राजभाषा नीति का अनुपालन हमारा संवैधानिक दायित्व-डीआरएम कौशल


रायपुर। रायपुर रेल मंडल की राजभाषा कार्यान्वयन समिति की पहली बैठक रेल क्लब में आहूत की गई। बैठक में उक्त कार्यालयों में हिंदी में हो रहे कार्यों एवं इससे संबंधित प्रगति रिपोर्टों की समीक्षा की गई। साथ ही साथ राजभाषा के प्रयोग-प्रसार से संबंधित मदों पर चर्चा की गई । वर्ष 2018 की पहली छःमाही बैठक में अध्यक्ष कौशल किशोर ने कहा कि नराकास, रायपुर के साथ यह मेरी पहली बैठक है एवं मुझे यह अनुभव हो रहा है कि यहां सदस्य कार्यालयों में राजभाषा के प्रयोग-प्रसार के लिए स्वस्थ वातावरण बना हुआ है । राजभाषा नीति का अनुपालन करना हमारा संवैधानिक दायित्व है । रायपुर नगर के विभिन्न सदस्य कार्यालयों से प्राप्त राजभाषा प्रगति रिपोर्टों से लगता है कि सभी सदस्य कार्यालय राजभाषा नीति का अनुपालन समुचित ढंग से कर रहे हैं, तथापि इस दिशा में अभी भी संभावनाएं हैं। हिंदी एक सरल एवं सहज भाषा है जिसे सभी को स्वीकार करना चाहिए ताकि हमारे दैनिक कार्यालयीन कामकाज में इसका अधिक से अधिक समावेश हो  सके । इस बैठक के अंत में मनोज कुमार राजभाषा सहायक, रायपुर रेल मंडल ने सभी का धन्यवाद व्यक्त किया। गौरतलब है कि यह ये बैठक वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है । यदि किसी कार्यालय में हिंदी में कामकाज की गति धीमी रह गई हो या इस संबंध में कोई त्रुटि रह गई हो तो उसे दूर किए जाने की चर्चा की जाती है ।