नौकरी छोड़ चुकी नौकरानी ने बनाया प्लान, और फिर की लूट !


रायपुर। शनिवार रविवार दरम्यानी रात सदर बाजार इलाके में हुई लूट का मामला कुछ घंटों में ही सुलझ गया। नेस्ले कंपनी के डीलर विपुल चेटवानी के घर में कल रात तक़रीबन 14 लाख रूपए की लूट हुई थी, जिसमें पुलिस ने महज़ 8 घंटे के भीतर ही मामला सुलझाते हुए पुरानी नौकरानी को गिरफ्तार कर लिया है। विपुल के घर में काम करने के दौरान ही उसने लूट की सारी प्लानिंग कर ली थी। आने जाने के रास्ते से लेकर आलमारी खोलने तक के तरीके भी उसने इज़ात कर लिए थे। दरअसल वारदात की जांच पड़ताल के दौरान सीसीटीवी खंगालने में उसका फुटेज मिला और मामला खुला। पुलिस फिलहाल उनके फरार साथियों की तलाश कर रही है।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक लूट की घटना को अंजाम देने तीन लोग पहुंचे थे। आरोपी घर का पिछला दरवाजा तोड़कर घुसे थे। उन्होंने पिछले दरवाजे के पास रखी लकडी की सीढी के सहारे ऊपर चढ़े और तार के ज़रिए झूले में रखी चाभी उठाई। जिसके बाद गेट खोलकर अंदर घुसे। शातिर लूटेरों में एक की तैनाती गेट पास ही कर के बाकी दो अंदर घुसे। हल्ला सुनकर जैसे ही प्रकाश चटवानी बाहर निकला तो पहले लूटेरों ने उन्हें बंधक बना लिया, फिर पत्नी प्रतिमा चटवानी बाहर निकली, तो आरोपियों ने धक्का देकर बिस्तर पर गिरा दिया और शांत रहने कहा। प्रतिमा से चाबी मांगी और 15 मिनट के भीतर आलमारी से रकम और जेवरात लूट कर फरार हो गए।

ऐसे घूमी शक़ की सुई
सीएसपी कोतवाली सुखनंदन राठौर ने बताया कि परिवार ने टिकरापारा की युवती पर संदेह जताया था। परिजनों के अनुसार युवती के संबंध में पूर्व मालिकों से पूछताछ की, तो उन्होंने अपराधिक प्रवृत्ति की बात कही। युवती काम के दौरान घर के भीतरी हिस्सों की मोबाइल पर फोटो ले रही थी। इस दौरान विपुल चटवानी की पत्नी ने युवती की फोटो खींच ली थी, जिसका मिलान सीसीटीवी फुटेज से किया गया। जिसके बाद हिरासत में लेकर नौकरानी के मोबाइल की जांच में कारोबारी चटवानी के घर के भीतर और पिछले गेट की फोटो मिली और शक़ यक़ीन में बदला। जिसके बाद पूछताछ में नौकरानी ने चोरी करना काबुल किया और साथियों का नाम-पता भी पुलिस को बताया।