अमित जोगी ने की ” भूपेश सरकार ” के खिलाफ निर्वाचन आयोग में शिकायत

भूपेश सरकार के ट्रांसफर और विज्ञापन जारी करने पर जताई आपत्ति

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) अध्यक्ष अमित जोगी ने मुख्य चुनाव अधिकारी को एक पत्र लिखा है। पत्र में जूनियर जोगी ने सुकमा पुलिस अधीक्षक के स्थानांतरण और नैशनल हेरल्ड को सरकारी विज्ञापन देने को आचार संहिता का खुला उल्लंघन बताया है। जोगी ने लिखा है कि इस मामलें के बाद से ही प्रशासनिक अमले में भय और आतंक का माहौल सरकार ने बनाया है। इन ममलों के बीच अमित जोगी ने लोकसभा के निष्पक्ष चुनाव कराने का निवेदन किया है। अमित ने अपने पत्र दोनों बिंदुओं का उल्लेख कर करते हुए कड़ी कार्यवाही की माँग भी की है।

Janta Congressये है जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) अध्यक्ष अमित जोगी का पत्र :-

मुख्य चुनाव अधिकारी
   छत्तीसगढ़

महोदय,

भारत के माननीय चुनाव आयोग द्वारा पूरे देश में रविवार दिनांक 10 March 2019 को आचार संहिता लागू कर दी गई है। आचार संहिता लागू होने के बाद भी इंडीयन नैशनल कांग्रेस की प्रदेश सरकार द्वारा उसका खुल्ला उल्लंघन किया जा रहा है। ऐसा लगता है कि प्रदेश में भारत के संविधान और क़ानून का राज नहीं बल्कि किसी व्यक्ति विशेष की हुकूमत चल रही है। इसके 2 उदहारण मैं आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ:

(१) कल ही माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा प्रकाश सिंह प्रकरण, छत्तीसगढ़ पुलिस अधिनियम २००७ और आचार संहिता के सभी नियमों की धज्जियाँ उड़ाते राज्य शासन के एक मंत्री के दबाव में अति-संवेदनशील सुकमा ज़िले के पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया गया।समाचार पत्रों से ज्ञात हुआ है कि उक्त अधिकारी ने अपने स्थानीय विधायक और शासन के मंत्री के थानेदार को हटाने के निर्देशों का पालन करने से इनकार कर दिया और इस कारण प्रदेश सरकार द्वारा उनकी पदस्थापना के दो महीने बाद ही स्थानांतरण पुलिस मुख्यालय रायपुर कर दिया गया। इस से निश्चित रूप से बाक़ी अधिकारियों में भी प्रशासनिक भय और आतंक का वातावरण निर्मित हो रहा है जो चुनाव की निष्पक्षता ले लिए घातक सिद्ध होगा।

(२) दूसरा उदाहरण इंडीयन नैशनल कांग्रेस से सम्बद्ध दैनिक अख़बार “नैशनल हेरल्ड” को बतौर विज्ञापन राज्य सरकार के द्वारा ₹ 50 लाख की राशि दी गई है। इस अख़बार का ना तो छत्तीसगढ़ में कोई वर्चस्व है और न ही कोई कार्यालय। ऐसा केवल अपने राजनीतिक दल को जनता के पैसे से फ़ायदा पहुँचना के उद्देश से करा गया है।

इस प्रकार राज्य सरकार द्वारा चुनाव प्रभावित करने के उद्देश से लगातार प्रशासनिक तंत्र का खुला दुरुपयोग करा जा रहा है। आपसे अनुरोध है कि आप उपरोक्त दोनों शिकायतों की जाँच कराकर तत्काल उचित कार्यवाही करेंगे ताकि प्रदेश में निष्पक्षता के साथ चुनाव सम्पन्न हो सके।

सादर
भवदीय,
अमित जोगी
अध्यक्ष- जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे)