मंतूराम को छोड़ डॉ पुनीत गुप्ता का केस लड़ेंगे अमित…

अंतागढ़ मामलें में मंतूराम के वक़ील ने केस से खुद को किया अलग

रायपुर। अंतागढ़ टेपकांड मामलें मेंएक बार फिर मंतूराम पवार अकेले दिखाई दे रहे है। इस मर्तबा उनके वकील ने ही कोर्ट में उनके लिए ज़िरह करने से मना कर दिया है, और इस पुरे मसले से खुद को अलग कर लिया है। मंतूराम की तरफ से इस मामलें में अब तक कोर्ट में ज़िरह कर रहे उनके वक़ील अमित बैनर्जी ने कोर्ट में अर्ज़ी लगाकर इस केस से अपना पॉवर विड्रा किया है।

                      अमित अब मंतूराम की तरफ से कोर्ट में दलील नहीं देंगे। अब तीन दिन बाद यानी 16 सितंबर को होने वाली सुनवाई के दौरान मंतूराम को अपना पक्ष खुद रखना होगा या फिर कोर्ट में सुनवाई की मुकर्रर तारीख से पहले उन्हें अपने लिए नया वकील ढूँढना होगा। दरअसल अब तक इस मामलें में मंतूराम और डॉ पुनीत गुप्ता दोनों की तरफ से कोर्ट में अमित बैनर्जी ही दलीलें पेश कर रहे थे। इस मामलें में ये भी कहा जा रहा है कि अधिवक्ता अमित बैनर्जी ने मंतूराम के सनसनी ख़ेज़ खुलासे के बाद मंतु की तरफ से बहस न करने डॉ पुनीत गुप्ता की ओर से मैसेज किया गया है।

भाजपा ने किया था निष्काषित
अंतागढ़ मामलें में धारा 164 के तहत कोर्ट में दिए गए बयान के बाद मची सियासी खलबली ने आखिरकार मंतुराम पवार को भाजपा से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। अंतागढ़ उपचुनाव में हुए कथित खरीद फ़रोख़्त को लेकर कुछ दिन पहले ही मंतुराम ने अपने खुलासे से सूबे में सियासी भूचाल ला दिया था। मंतुराम ने तत्कालीन सरकारों के मंत्री और सुबा-ए-सदर पर भी इस खरीद फरोख्त में शामिल होने का खुलासा किया था।