छतीसगढ की राज्यपाल बनी अनुसुईया उइके, ली शपथ

भूपेश रमन समेत दिग्गज नेताओं ने दी बधाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ की प्रथम पूर्णकालिक महिला राज्यपाल अनुसुईया उइके ने राजभवन में पद और गोपनीयता की शपथ ली। राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत भूपेश कैबिनेट के तमाम दिग्गज मंत्री और स्थानीय विधायक मौजूद रहे। गौरतलब है कि नव नियुक्त राज्यपाल अनुसुईया उइके के शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश के तमाम दिग्गज नेताओं के साथ भाजपा के भी कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। जिसमें नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने भी राजभवन के दरबार हॉल में प्रदेश के नए राज्यपाल से मिलकर उन्हें शुभकामनाएं दी।


इससे पहले छत्तीसगढ़ की नव मनोनीत राज्यपाल अनुसुईया उइके ने आज सुबह व्ही.आई.पी. रोड स्थित राजीव स्मृति वन के शहीद वाटिका पहुंचकर शहीदों की याद में बनाये गए अमर जवान स्तंभ में पुष्प चक्र अर्पित की। उन्होंने यहां सुरक्षा बलों के शहीदों की नाम सूची के बोर्डों पर भी पुष्पांजलि अर्पित की। उइके ने इस अवसर पर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले वीर सपूतों को स्मरण करने यहां आई हूं। उन्होंने कहा कि प्रदेश एवं देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले वीर सपूत सदैव नई पीढ़ी को अच्छे कार्य करने के लिए प्रेरित करते रहेंगे।

टंडन ने भी ली शपथ
भाजपा के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन ने सोमवार को यहां राजभवन में एक समारोह में मध्य प्रदेश के राज्यपाल के रूप में शपथ ली। इस नियुक्ति से पहले, टंडन (84) ने बिहार के राज्यपाल के रूप में कार्य किया। राजभवन के एक अधिकारी ने बताया कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रवि शंकर झा ने राज्य के मंत्रियों और नौकरशाहों की मौजूदगी में टंडन को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। टंडन ने आनंदीबेन पटेल का स्थान लिया, जिन्हें हाल ही में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था।