अंतागढ़ टेपकांड : SIT को झटका, वॉइस सैम्पल की याचिका खारिज

वाइस सैंपल नहीं मिलने से जांच में अब और बढ़ेंगे दांव पेंच

रायपुर। प्रदेश के सियासत में खलबली मचा कर रखने वाला अंतर्गत टेप कांड में एसआईटी को एक बड़ा झटका लगा है। वॉइस सैंपल लेने के लिए लगाई गई रायपुर कोर्ट में एसआईटी की याचिका को खारिज कर दिया गया है। एसआईटी ने अंतागढ़ टेप कांड मामले में सभी आरोपियों के वॉइस सैंपल लेने के लिए कोर्ट में अपनी याचिका दाखिल की थी, जिसमें दूसरे पक्षों से भी आवेदन दिया गया था। एसआईटी ने इस मामले में मंतूराम पवार, अजीत जोगी, अमित जोगी और पुनीत गुप्ता के वॉइस सैंपल लेने के लिए कोर्ट में आवेदन कर कहा था कि इन सैम्पलों से कथित वायरल ऑडियो की जांच और मैच की जाएगी।

             जिसके आधार पर जांच की दिशा स्पष्ट और मज़बूती के साथ तय की जाएगी लेकिन न्यायाधीश लिना अग्रवाल की कोर्ट ने आज इसे नामंज़ूर कर दिया है। गौरतलब है कि अंतर्गत टेप कांड मामले में कांग्रेस नेत्री और पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने अजीत जोगी, अमित जोगी, डॉ पुनीत गुप्ता और मंतूराम पवार के खिलाफ पंडरी थाने में एफ आईआरदर्ज कराई थी। इस मामले में एसआईटी गठित कर सरकार ने जांच शुरू कराई थी।

मंतूराम सैंपल देने तैयार
अजीत जोगी, अमित जोगी, डॉ पुनीत गुप्ता और मंतूराम पवार के वाइस सैंपल लेने के लिए एसआईटी ने यह याचिका लगाई थी। इन 4 नामों में से मंतूराम पवार एकमात्र ऐसा नाम है जो एसआईटी को अपना वॉइस सैंपल देने के लिए तैयार है। आज की सुनवाई से पहले भी मंतूराम पवार ने कोर्ट में इस बात का कबूल नामा किया है कि वे अपना वॉइस सैंपल एसआईटी को देने के लिए तैयार है, लेकिन केस डायरी नहीं पहुंचने की वजह से उस दिन मंतूराम पवार का वॉइस सैंपल नहीं हो पाया था।