आर्किटेक्ट्स ने निकाली बाइक रैली, नो टू प्लास्टिक का दिया मैसेज

कलेक्टर एस भारतीदासन ने दिलाई प्लास्टिक मुक्त होने की शपथ

रायपुर। आर्किटेक्ट एसोसिएशन के रायपुर चेप्टर की अगुवाई में शहर भर के वास्तुविदों नें बाईक रैली व सभा का आयोजन कर सिंगल यूज्ड प्लास्टिक का उपयोग न करने के लिए सभी को जागरूक किया। कलेक्टर डाॅ एस.भारतीदासन ने वास्तुविदों की पहल की सराहना करते हुए सभी से अपने कार्यक्षेत्र में सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के विकल्प का ही उपयोग करने का सुझाव देते हुए संकल्प भी दिलाया।


वास्तुविदों ने सुबह एन आई टी रायपुर में एकत्रित होकर बाइक रैली की शुरुआत की। बाइक रैली को रायपुर शहर के वरिष्ठ वास्तुविद मुकुंद हम्बरडे, आर.एस. श्री राव, अरुण पांडेय एवं देबाशीष सान्याल ने झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली राज कुमार कॉलेज, वंदना ऑटो, लाखेनगर चौक, पुरानी बस्ती, बूढ़ापारा श्याम टॉकीज, सप्रे शाला, नगर निगम व्हाइट हाउस, नेताजी स्टेडियम, शास्त्री चौक, शंकर नगर चौक होते हुए तेलीबांधा पहुंची। तेलीबांधा में सभी वास्तुविदों को संबोधित करते हुए कलेक्टर डाॅ एस.भारतीदासन ने शहर में संचालित अभियान की सराहना करते हुए सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के दुष्प्रभाव से सभी को अवगत कराया।

                        सभी वास्तुविदों ने प्लास्टिक मुक्त शहर की स्थापना के लिए अपने कार्यक्षेत्र में भी सिंगल यूज्ड प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने का संकल्प भी लिया। रायपुर स्मार्ट सिटी की टीम भी इस दौरान साथ थी।इस आयोजन में द इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स छत्तीसगढ़ चैप्टर के अध्यक्ष ने छत्तीसगढ़ में वास्तुविदों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारत वर्ष में संचालित वास्तुविद संकाय मुम्बई द्वारा राज्य स्तर पर चैप्टर और सेन्टर से संचालित किया जाता है। छत्तीसगढ़ में रायपुर सेन्टर, दुर्ग-भिलाई सेन्टर व बिलासपुर सब-सेन्टर में 400 से ज्यादा वास्तुविद छत्तीसगढ़ राज्य में कार्यरत है। उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य व राष्ट्र निर्माण में वास्तुविदों की भूमिका पर विस्तार से प्रकाश डाला।