Big News : आधा दर्जन पुलिस वालों का प्रमोशन निरस्त, डिमोशन आदेश ज़ारी

आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन में गलत तरीके से प्रमोशन की मिली थी शिकायत

रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस में मिले आउट ऑफ टर्न प्रमोशन वाले आधा दर्जन पुलिस वालों को डिमोट कर दिया गया है। ये डिमोशन खुद सूबे के डीजीपी डीएम अवस्थी ने किया है। डिमोट होने वालों में एक सब इंस्पेक्टर, एक एएसआई और चार हवलदार है। डीजीपी के अधोहस्ताक्षरित डिमोशन के आदेश में इस बात का जिक्र है कि इन सभी पुलिस कर्मियों का आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन बगैर किसी बैठक और अनुशंसा के ही कर दी गई। साथ ही इनके प्रमोशन को लेकर इनके सर्विस रिकार्ड में भी कोई उल्लेखनीय कार्य दर्ज़ नहीं है जिसकी वज़ह से इन्हे आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन दिया जाए।


पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस सभी 6 पुलिस कर्मियों का प्रमोशन साल 2010 से 2015 के बीच हुआ था। जिसके बाद से ही इनके प्रमोशन की शिकायतों का पुलिंदा उच्च अधिकारीयों को सौपा गया था। जिसके आधार पर नई सरकार और डीजीपी ने जांच के लिए एक समिति गठित की गई थी। इस समिति की जांच में ये सारा खुलासा हुआ है।

इनके नाम जारी हुआ डिमोशन
सूबे के पुलिस मुख्यालय से जारी डिमोशन आदेश के मुताबिक़ पदोन्नति पाने वालों में सब इंस्पेक्टर अम्बरीश शर्मा को डिमोट कर एएसआई के पद पर डिमोट किया है। वहीं एएसआई प्रमोट हुए अंगनपल्ली गणपत राव को प्रधान आरक्षक, प्रधान आरक्षक बने रंजीत पिल्ले, अतुलेश राय, राकेश जाट और अवधेश यादव को आरक्षक के पद पर डिमोट किया गया है।