चित्रकोट उपचुनाव के लिए भाजपा – कांग्रेस ने उतारे प्रत्याशी

कांग्रेस से राजमन बेंजाम और भाजपा से लच्छुराम कश्यप मैदान में

रायपुर| दंतेवाड़ा उप निर्वाचन में कांग्रेस ने अच्छी खासी जीत दर्ज की है। वही भाजपा को इस क्षेत्र में काफी अंतर् से हार का मुँह देखना पड़ा,जिससे भाजपा निराश है। अब दंतेवाड़ा के बाद चित्रकोट उपचुनाव की तैयारी में राजनितिक दल जुट गए है। प्रदेश में सत्ताधारी दल कांग्रेस और विपक्ष में बैठी भाजपा के बीच यहाँ भी सीधी लड़ाई होगी। चित्रकोट विधानसभा में उपचुनाव होना है। ये सीट सांसद बने दीपक बैज की वजह से खाली हुई है। छत्तीसगढ़ चित्रकोट विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 87 के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होने हैं। यह सीट अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित की गई है।

राजमन बेंजाम हैं कांग्रेस प्रत्याशी
चित्रकोट चुनाव की घोषणा से पहले ही कांग्रेस ने प्रत्याशी पर मंथन करना शुरू कर दिया था। कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक भी कर ली गयी थी। जिसमे उम्मीदवार के नाम पर लगभग फैसला ले लिया गया था। लेकिन कांग्रेस को दंतेवाड़ा उपचुनाव के नतीजों का इंतजार था। जिसमे वो सफल हो गई है। प्रत्याशियों की सूची दो दिन पहले अपने आलाकमान को सौभी सौंप दिया गया था। दिल्ली दरबार से आज चित्रकोट विधानसभा के उपचुनाव के लिए उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगा दी गई है। कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने राजमन बेंजाम के नाम पर अंतिम मुहर लगा दिया है। यानी अब चित्रकोट से कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी राजमन बेंजाम होंगे। राजमन बेंजाम वर्तमान में बस्तर ग्रामीण कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हैं। साथ ही माना जा रहा है की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के करि करीबी भी हैं। यही कारन है की दिल्ली में आलाकमान के सामने मुख्यमंत्री ने ही राजमन के नाम को आगे बढ़ाया बढ़ाया था। हांलाकि प्रत्याशियों की सूची में दीपक बैज की पत्नी पूनम बैज का नाम भी शामिल था। लेकिन पूनम के नाम को दरकिनार कर राजमन का टिकट फाइनल किया गया। पिछले चुनाव में राजमन ने चित्रकोट क्षेत्र से दीपक बैज के लिए अच्छा खासा काम किया था। जिसका परिणाम आज दिखाई दे रहा है।
लच्छुराम कश्यप पर भाजपा का भरोसा
भारतीय जनता पार्टी ने चित्रकोट चुनाव के लिए कमर कास लिया है। दंतेवाड़ा चुनाव में हार के बाद चित्रकोट चुनाव के लिए भाजपा फूंक फूंक कर कदम रख रही है। भाजपा के चुनाव समिति की बैठक शुक्रवार को रखी गयी थी। जिसमे चित्रकोट उपचुनाव के लिए कई नाम सामने आये थे,लेकिन समिति ने केवल एक नाम पर ही हामी भरी। वो नाम है लच्छुराम कश्यप का। चुनाव समिति में नाम फ़ाइनल के बाद लच्छुराम कश्यप का नाम राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह के पास भेजा गया,जहाँ से भी इस नाम पर मुहर लगने की बात कही जा रही है। हलाकि अभी तक भाजपा ने अपने अधिकृत प्रत्याशी का नाम सार्वजानिक नहीं किया है। लेकिन माना जा रहा है की जिस तरह से लच्छुराम ने उम्मीदवार का फॉर्म ख़रीदा है उससे शत प्रतिशत लच्छुराम कश्यप का नाम फाइनल ही माना जा रहा है।

कांग्रेस और भाजपा ने किया जीत का दावा
दंतेवाड़ा सीट जितने के बाद जहाँ कांग्रेस काफी उत्साहित नजर आ रही है। तो वही भाजपा भी चित्रकोट सीट को पाने एड़ी चोटी का जोर लगाने पीछे नहीं है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चित्रकोट सीट के जीत पर निश्चिन्त रहने की बात कही। उनकी माने तो राज्य सरकार के आठ महीनो के कार्य काल से बस्तर के लोग खुश है। इसलिए दूसरे उपचुनाव में भी मतदाता कांग्रेस को ही साथ देंगे। वहीँ पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ-रमन सिंह की माने तो चित्रकोट सीट को भाजपा ने कांग्रेस से छीनने की रणनीति बना ली है। रमन ने कहा की एक सीट कांग्रेस ने ले ली है लेकिन इस सीट को हम ही रखेंगे।