भाजपा का आरोप,कर्जमाफी पर राज्य सरकार की खुली कलाई

ऋण माफी का ढिंढोरा पीट रही है भूपेश सरकार-संदीप शर्मा

रायपुर। भाजपा प्रवक्ता संदीप शर्मा ने बस्तर मे दो किसानों को कर्ज ना पटाने के कारण जेल जाने पर कहा कि सरकार की कर्जमाफी योजना की कलई इस घटना से खुल गई है।भाजपा प्रवक्ता संदीप शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा चुनाव में बड़े जोर-शोर से कर्जमाफी की बात हर जनसभा में कर रहे हैं जो खोखला साबित हुआ है। छत्तीसगढ़ में जितने भी राष्ट्रीयकृत बैंक हैं, जिनमें 10 लाख से अधिक किसानों ने कृषि ऋण लिए हैं वे अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। स्थिति अभी यह है कि न तो उनके कृषि ऋण माफ हुए हैं और न ही उन्हें आने वाली फसलों के लिए ऋण की व्यवस्था कैसे होगी इस पर उन्हें कोई जवाब नही मिल पा रहा है।

ऋण माफ़ी पर कटघरे में सरकार
दूसरी तरफ ऋण माफी का ढिंढोरा पीटने वाली भूपेश सरकार के क्रूर प्रशासक गरीब वनवासी किसानों को ऋण नहीं पटाने के कारण सलाखों के पीछे भेजने से नहीं चुक रहे हैं। श्री संदीप शर्मा ने कहा कि अपने पूर्व कार्यकाल मं 15 प्रतिशत ब्याज और 3 प्रतिशत अतिरिक्त दंड ब्याज मिलाकर 18 प्रतिशत तक ब्याज वसूलने वाली सरकार अनेक बार समय पर ऋण नही पटाने के कारण किसानों के बैल, फसल, खेत कुर्क करने वाली और लेवी के माध्यम से जबरदस्ती किसानों की कोठी से धान निकालने वाली पार्टी के मुखिया श्री राहुल गांधी द्वारा आत्ममुग्ध बयान न केवल हास्यास्पद है बल्कि निंदनीय है।

प्रदेश कांग्रेस ने दिया भाजपा को करारा जवाब
राज्य सरकार पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद कांग्रेस ने भी आज पलटवार किया है। कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि नवंबर माह में प्रदेश की सत्ता की चाबी प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को सौंपी है । उसके बाद से ही प्रदेश सरकार ने अपने घोषणापत्र में लिखे वादों में से लगभग 15 से ज्यादा घोषणाओं को पूरा कर दिया है। जबकि भाजपा पिछले चुनाव में घोषणा पत्र के किसी भी वादे को पूरा नहीं कर पाई थी। जिसके चलते प्रदेश की जनता ने 15 साल की सरकार को 15 सीट में सिमटकर रख दिया है, वहीं कांग्रेस को 68 सीट देकर आम जनता ने आशीर्वाद भी दिया है । शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि किसानों पर सरकार सबसे ज्यादा पहले भी ध्यान दे रही थी और आगे भी उनका ख्याल रखा जाएगा। शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल स्वयं एक किसान है, इसलिए किसानों की परेशानियों को अच्छी तरह से जानते हैं । लोकसभा चुनाव में भाजपा अपनी हार को देखकर तिलमिला गई है, इसीलिए अनर्गल आरोप लगाकर राज्य सरकार को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।