आहिस्ते आहिस्ते बदलेगा बोरियाखुर्द जलाशय का स्वरूप

रायपुर। रायपुर विकास प्राधिकरण की नगर विकास योजना क्रमांक-04 कमल विहार के अंतर्गत सेक्टर-3 के 226 एकड़ के रकबे में बोरियाखुर्द जलाशय का चरणबद्ध विकास किया जा रहा है, जो आज की स्थिति में राजधानी रायपुर का सबसे बड़ा जलाशय होगा। लोक निर्माण आवास एवं पर्यावरण मंत्री राजेश मूणत की अध्यक्षता में मंत्रालय में आयोजित रायपुर विकास प्राधिकरण की समीक्षा बैठक ली। प्राधिकरण के अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव सहित तमाम अधिकारी बैठक में मौजूद थे। प्राधिकरण के अधिकारियों ने बैठक में दिए गए प्रस्तुतिकरण में बताया कि यह जलाशय राजधानी रायपुर का सबसे बड़ा जलाशय होगा। वर्तमान में इतना बड़ा जलाशय रायपुर में नहीं है। यह जलाशय तेलीबांधा तालाब से चार गुना बड़ा होगा। इसके क्षेत्र में आने वाले 138 एकड़ शासकीय भूमि और 79 एकड़ निजी भूमि का अनुबंध वर्तमान में हो चुका है।
अधिकारियों ने बैठक में बताया कि प्रथम चरण में 15 करोड़ 24 लाख रूपए की लागत से जलाशय के चारों ओर सड़क, साइकल ट्रेक और फूटपाथ विकसित किया जाएगा। इससे लोगों को वहां आसानी से घूमने-फिरने और सायकिलिंग की भी सुविधा रहेगी। इसके अलावा जलाशय के चारों ओर गोल क्षेत्र में लाईटिंग का भी प्रावधान रखा गया है। इसके द्वितीय चरण में 17 करोड़ 44 लाख रूपए की लागत राशि से योगापार्क, पिकनिक जोन, फूड जोन, ओपन एयर थिएटर, बोटिंग, वाटर स्पोर्टस और ओपन जिम आदि सुविधाओं का विकास किया जाएगा। इससे जहां कमल विहार में आमोद-प्रमोद का क्षेत्र विकसित होगा वहीं बसाहट में भी तेजी आएगी।