अब तक की फिल्मों से अलग है छत्तीसगढ़ी फिल्म ” नाग अउ अर्जुन “

4 जनवरी 2019 को रिलीज होगी " नाग अउ अर्जुन "

 

रायपुर। छालीवुड में पहली दफा नाग नागिन को लेकर कोई फिल्म बन रही है। जी बिलकुल ये फिल्म अब तक की छत्तीसगढ़ी फिल्मों से काफी जुदा है। एक अलग स्टोरी लाइन में बन रही इस फिल्म का नाम नाग अउ अर्जुन है। जो 4 जनवरी को रिलीज़ होने वाली है। क्या कुछ खास है इस फिल्म में आइए आपको बताते है। नाग अउ अर्जुन

प्यार, परिवार और प्रदेश की संस्कृति पर अब तक आपने कई छतीसगढी फिल्मे देखि होंगी। पर 4 जनवरी 2019 को रिलीज होने वाली फिल्म नाग अउ अर्जुन अब तक की सभी फिल्मों से बेहद अलग है। इस फिल्म की कहानी एक नाग नागिन के ईर्द गिर्द ही घूमते नज़र आ रही है। छत्तीसगढ के इतिहास में शायद ये पहली फिल्म है जिसमें नाग नागिन का कैरेक्टर छालीवुड के हीरो हीरोइन निभाएंगे।

नाग अउ अर्जुन

फिल्म की कहानी में पुनर्जन्म का तड़का भी दिया गया है। जिसमे इन्हे प्यार होता है। फिल्म डायरेक्टर पुरू राज साहू बताया कि चार साल से वो इस फिल्म को लेकर हर तरह की स्टडी कर चुके है।

जिसके बाद इस स्टोरी को फ़िल्मी परदे पर उतारने काम किया है। साहू ने बताया कि प्रदेश के अलग अलग लोकेशन पर इस फिल्म की शूटिंग की गई है। कर्मा जैसे पारंपरिक गीत को भी फिल्म में डाला गया। इस फ़िल्म में तान्या तिवारी बतौर हीरोइन और राजेश साहू हीरो के किरदार में नज़र आएंगे।

25 लाख की लागत से बनी है फिल्म
अपनी तरह के एक अलग कॉन्सेप्ट में बन रही फ़िल्म नाग अउ अर्जुन छत्तीसगढ़ के लोगों को कितनी पसंद आएगी ये तो 4 जनवरी के बाद ही साफ़ हो पाएगा। मगर इस फिल्म के निर्माण में पूरी यूनिट ने जी तोड़ मेहनत की है। तक़रीबन 25 लाख की लागत से बनी इस फ़िल्म में गाने को लेकर भी काफी मेहनत की गई है। साथ ही फिल्म में ग्राफिक्स और एनीमेशन के साथ कैमरावर्क में भी स्पेशल एफर्ट नज़र आएगा।