7 बैठकों वाला हो सकता भूपेश सरकार का पहला विधानसभा सत्र

जनवरी के पहले हफ्ते में होगा पंचम विधानसभा का पहला सत्र

रायपुर। नई सरकार का पहला विधानसभा सत्र शीत सत्र होगा। जो जनवरी महीने के पहले हफ्ते में बुलाया जाएगा। इस सत्र में विधायकों का शपथ ग्रहण के साथ ही नए विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव भी किया जाएगा।

CGVIDHANSABHA raipur

इसी सत्र में नए विधायकों को विधानसभा की कार्यवाही से भी अवगत कराया जाएगा। इसके साथ ही विधायकों को मिलने वाली सारी सुविधाएं और उनके प्रोटोकोल की जानकारी भी नवनिर्वाचित विधायकों को सत्र के दौरान दी जाएंगी। कयास लगाए जा रहे हैं कि 7 जनवरी से विधानसभा का शीत सत्र शुरू हो सकता है। उम्मीद की जा रही हैं कि यह शीत सत्र 5 से 7 बैठकों वाला होगा। क्योंकि लगातार कांग्रेस सत्र में बैठकों की संख्या बढ़ाने मांग करती आ रही है, लिहाजा अब सरकार में आने के बाद पहला सत्र न्यूनतम 7 बैठकों के होने की उम्मीद है।

स्पीकर का होगा चयन
मुख्यमंत्री तय होने के बाद से ही विधानसभा में स्पीकर के लिए वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा शुरू हो चुकी है। महज 10 से 15 दिनों के बाद विधानसभा सत्र हो सकता है, लिहाजा स्पीकर कौन बनेगा इस बात की चर्चा अब जोर पकड़ चुकी है। पार्टी सूत्रों की मानें तो वरिष्ठ नेता चरणदास महंत विधानसभा अध्यक्ष की दौड़ में सबसे आगे हैं। वहीं उनके साथ रविंद्र चौबे का भी नाम सामने आ रहा है, हालांकि यह फैसला भी प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ही करेंगे।