मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने की मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की लॉन्चिंग

मोबाइल एप के माध्यम से किया जा सकेगा मतदाता सत्यापन

रायपुर | छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने आज यहां अपने कार्यालय में मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की लॉन्चिंग के साथ ही कार्य की मॉनिटरिंग की। उन्होंने इस दौरान भारत निर्वाचन आयोग के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम को सजगता और सतर्कता के साथ त्वरित गति से संपादित कराणे निर्देशित किया।ताकि प्रदेश के सभी जिलों में स्वीप गतिविधियों के माध्यम से मतदाताओं को जागरूक कर अधिक से अधिक मतदाताओं के सत्यापन का कार्य पूर्ण कराया जा सके। वहीँ पहले ही दिन बड़ी संख्या में मतदाता सेवा केंद्रों में पहुंचकर मतदाताओं ने आज उत्साहपूर्वक अपना मतदाता सत्यापन किया। यह कार्यक्रम छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में अगले डेढ़ महीने यानि 15 अक्टूबर तक चलेगा।
इसके माध्यम से कोई भी नागरिक मतदाता सूची में प्रविष्ट अपनी या अपने परिवार के सदस्यों की जानकारी का डिजिटल सत्यापन कर सकते हैं। इसके लिए मतदाता को गूगल प्ले स्टोर में जाकर वोटर हेल्पलाईन मोेबाइल एप डाॅउनलोड करना होगा। उन्होंने बताया कि दो सितम्बर तक रायपुर जिले में 10 हजार मतदाताओं के इसके माध्यम से सत्यापन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कार्यक्रम के दौरान वोटर हेल्पलाईन मोबाइल एप के माध्यम से मतदाताओं को मिलने वाले सुविधाओं की विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

15 अक्टूबर 2019 तक चलेगा मतदाता सत्यापन कार्यक्रम
रायपुर के कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ. एस. भारतीदासन के अनुसार यह कार्यक्रम 15 अक्टूबर 2019 तक तीन स्तरों में संपादित होगा। पहले चरण में मतदाता ईपिक नंबर के माध्यम से मतदाता सूची में अपने अथवा अपने परिवार के सदस्यों का डिजिटल सत्यापन कर सकते हैं। वे इसके माध्यम से अपने नाम के साथ-साथ जन्म तिथि, लिंग, रिश्ता, पता और फोटो का सत्यापन भी कर सकते हैं। त्रुटि होने या परिवर्तन किये जाने की स्थिति में वे संबंधित विवरण या फोटो भी अपने किसी एक परिचय पत्र के साथ अपलोड कर सकते है। मतदाताओं द्वारा डिजिटल सत्यापन कार्य वोटर हेल्प लाइन मोबाइल एप के अलावा अनेक माध्यमोेे जैसे एन.वी.एस.पी., दिव्यांगजनों के लिए जिला संपर्क केन्द्र अथवा हैल्पलाईन 1950, वी.एफ.सी. अर्थात वोटर फेसिलेशन सेंटर और सी.एस.सी. के माध्यम से किया जा सकता है। मतदाताओं को अपने डिजिटल सत्यापन के लिए भारतीय पासपोर्ट, ड्रायविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, राशन कार्ड, सरकारी या अध्र्दशासकीय पहचान पत्र, बैंक पासबुक, किसान पहचान पत्र जैसे दस्तावेज अपलोड करना होगा।

घर-घर में होगा सत्यापन
दूसरे चरण में बी.एल.ओ. द्वारा घर-घर जाकर सत्यापन का कार्य किया जायेगा। इसके आधार पर मतदाता सूची के अद्यतीकरण का कार्य किया जायेगा। मतदाता सूची की त्रुटि को खत्म करने के लिए यह कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। इसके तहत अब कोई भी व्यक्ति अपने घर बैठे मतदाता सूची में अंकित विवरणों की जांच कर सकता है और सुधार के लिए जानकारी दे सकता है। ऐसे नागरिक जो मतदाता सूची में त्रुटियों को सुधारने के इधर-उधर भटकते थे, उन्हें काॅफी राहत मिलेगी।

रायपुर कलेक्टर ने की अपील
रायपुर कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने बताया कि मतदाता अपने ईपिक क्रमांक के माध्यम से परिवार के सभी मतदाताओं की फैमिली टैगिंग भी कर सकते हैं। उन्होंने जिले के सभी नागरिकोें से अपील है कि वे मतदाता सूची का सत्यापन अवश्य करें और सबसे बड़े वोटर सत्यापन अभियान का हिस्सा बना कर मतदाता संबंधी अपने विवरणों को शत प्रतिशत सही बनाये।