सिविल जज 2019 की मुख्य परीक्षा हुई रद्द, देखें CGPSC का नोटिफिकेश

सिविल जज 2019 की परीक्षा पर हाईकोर्ट में चल रहा है केस

रायपुर। सिविल जज 2019 की मुख्य परीक्षा को छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने रद्द कर दिया है। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने इस परीक्षा के कैंसिलेशन की एक जानकारी विभागीय वेबसाइट में अपडेट की है। जिसमें स्पष्ट किया गया है कि सिविल जज की मुख्य परीक्षा को रद्द किया जाता है। इस भर्ती परीक्षा के संबंध में कई अभ्यर्थियों ने आयोग के खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था। जिसके बाद हाईकोर्ट ने सिविल जज प्रवेश स्तर के 39 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पर रोक लगाने का आदेश जारी किया था। 7 मई 2019 को हुई इस परीक्षा के नतीजे 2 जुलाई को जारी किए गए थे। हाईकोर्ट में याचिका प्रस्तुत कर बताया गया है कि पीएससी ने मॉडल आंसर में की गई आपत्ति के बावजूद गलत उत्तर के आधार पर नतीजे जारी किए हैं।


हाईकोर्ट के आदेश के आधार पर आयोग की तरफ से जारी इस नोटिफिकेशन में लिखा गया है कि ” छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी सूचना क्रमांक 1044 / 22 / परीक्षा 2019 दिनांक 11 जुलाई 2019 के तहत सिविल जज मुख्य परीक्षा 2019 की लिखित परीक्षा 8 मई 2019 को आयोजित थी। माननीय उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ बिलासपुर के द्वारा याचिका क्रमांक 2403 / 2019 कुमार सौरव विरुद्ध छत्तीसगढ़ शासन एवं अन्य के पारित आदेश दिनांक 16 जुलाई 2019 के परिपालन में सिविल जज मुख्य परीक्षा 2019 के लिखित परीक्षा को आगामी आदेश तक स्थगित किया जाता है।

नहीं हो पाया था सिलेक्शन
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा सिविल जज के पदों पर ली गई परीक्षा में कई प्रश्नों के उत्तर और सवाल गलत थे। जिसको लेकर दावा आपत्ति मॉडल आंसर जारी करने के बाद ही की गई थी, बावजूद उसके लोक सेवा आयोग ने उन दावा आपत्ति पर अपनी दलीलें देकर उसका निराकरण किया, उससे अभ्यर्थी संतुष्ट नहीं थे। जिसके बाद परीक्षार्थियों ने न्याय के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।