सीएम भूपेश बघेल ने दिया बहनों को भाई दूज अवकाश का तोहफा

29 अक्टूबर को रहेगी सरकारी छुट्टी,आदेश जारी

रायपुर | छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार आते ही प्रदेश की संस्कृति पर विशेष ध्यान दे रही है। सरकार में आते ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश की संस्कृति को सहेजना शुरू कर दिया। यह बात हम नहीं प्रदेश की जनता कह रही है। इसका सबसे बड़ा उदहारण राज्य सरकार द्वारा घोषित चार अवकाश को माना जा रहा है। जिसमें आदिवासी दिवस,पोला,हरितालिका तीज,छठ पर्व शामिल किया गया। इनमे पोला और हरितालिका तीज पर जो छटा सरकार ने बिखेरी है उसे प्रदेशवासी काफी प्रभावित हुए हैं। इन छुट्टियों के मिलने से खासकर प्रदेश की महिलाएं काफी खुश हुई। जिसके लिए महिलाओं ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद भी दिया।

भाईदूज पर मिला अवकाश
अब भूपेश सरकार ने स्थानीय त्यौहार भाई दूज पर भी रायपुर जिले में स्थानीय अवकाश घोषित किया है। हलाकि इस अवकाश को प्रदेश स्तर पर लागू नहीं किया गया है। भाई दूज यानी 29 अक्टूबर को नवा रायपुर के साथ-साथ राजधानी के सभी सरकारी कार्यलय बंद रहेगे। छत्तीसगढ़ सामान्य प्रशासन विभाग की सचिव रिता षंडिल्य ने 20 सितम्बर को आदेश जारी किया है। जिसमें भाई दूज 29 अक्टूबर मंगलवार को स्थानीय अवकाश होने की बात लिखी गई है। साथ ही आदेश मे लिखा है कि यह स्थानीय अवकाश बैंक, कोषालय, उप कोषालय के लिए लागू नहीं होगा।

गणेश चतुर्थी के बदले मिली छुट्टी
हरितालिका तीज और गणेश चतुर्थी 2 सितंबर को एक ही दिन पड़ जाने के कारण गणेश चतुर्थी को घोषित स्थानीय अवकाश निरस्त किया गया था। राज्य सरकार ने गणेश चतुर्थी के निरस्त अवकाश को भाई दूज के रूप में अवकाश घोषित किया है। बहरहाल स्थानीय त्यौहार में अवकाश घोषित कर छत्तीसगढ़िया महिलाओं को तोहफा दिया है। सच्चे छत्तीसगढ़िया के लिए यह खुशी की बात है।
———-