नोटशीट ज़ारी होने के बाद स्वतंत्रा सेनानी की जयंती भूले निगम अफसर

मेयर, सभापति, नेताप्रतिपक्ष को भेजी जानकारी और आयोजन करना ही भुले

रायपुर। पहले नोटशीट चलाकर खुद निगम के अफसरों ने ही मेयर, सभापति, नेताप्रतिपक्ष और संबंधित वार्ड के पार्षद को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की जयंती की जानकारी भेजी, और आज उस सेनानी के जयंती कार्यक्रम का आयोजन करना ही भूल गई। इस बात का खुलासा भी तब हुआ जब सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा, उपनेता प्रतिपक्ष रमेश ठाकुर और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजन जयंती समारोह में सम्मिलित होने पहुंचे। तब किसी भी तरह का आयोजन नहीं होने से सभी बिफ़रे और सभी शहीद कमल शर्मा की प्रतिमा के पास धरने पर बैठ गए। बताते है कि जब सुबह तय समय पर सभापति पहुंचे थे उस वक़्त तो शहीद स्मारक का गेट तक बंद था। जिसे उन्होंने ही खुद खुलवाया है।

खुद की माल्यार्पण की व्यवस्था
सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा बताया कि उन्होंने वहां पहुंचने के बाद निगम के कमिश्नर शिवअनंत तायल समेत संस्कृति विभाग के तमाम ज़िम्मेदार अफसर और अध्यक्ष से टेलीफोनिक संपर्क किया था। बावजूद कोई भी ज़िम्मेदार इस मामलें में कुछ नहीं बोल पा रहे है। उन्होंने अपनी नाराज़गी ज़ाहिर करते हुआ कहा कि आज इनके जयंती के दिन कार्यक्रम की सुचना दी गई थी, मगर निगम के अफ़सरों ने कार्यक्रम का आयोजन ही नहीं किया। इस तरह से एक स्वंत्रता संग्राम सेनानी का अपमान किया जा रहा है जो हमे रत्ती भर भी बर्दाश्त नहीं। सभापति ने खुद ही मूर्ति की साफ़ सफाई करा कर माल्यार्पण भी किया।