थाने पहुंचे डॉ पुनीत गुप्ता आरोपों को किया खारिज़…

तीन नोटिस के बाद पुरी तैयारी के साथ पहुंचे पुनीत गुप्ता

रायपुर। आखिरकार DKS Hospital के पूर्व अधीक्षक और 50 करोड़ घोटाले के आरोपी बनाए गए डॉ पुनीत गुप्ता गोल बाजार थाने पहुंचे हैं। पुलिस की तीन नोटिस और लुक आउट सर्कुलर के बाद डॉ पुनीत गुप्ता पूरे दल बल के साथ गोल बाजार थाने पहुंचे है। खबर है कि पुनीत के पिता डॉ जीबी गुप्ता भी उनके साथ गोलबाज़ार पहुंचे है।

                                   उन्होंने अपनी जमानत की दस्तावेज गोल बाजार थाने में प्रस्तुत किए, वहीं उन्होंने उक्त मामले में संबंधित एसआईटी को अपना प्राथमिक बयान भी दर्ज कराया है। पुनीत ने अपने वकीलों के साथ पहुंचकर गोल बाजार थाने में बयान दर्ज कराने के दौरान अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज किए हैं। साथ ही यह भी कहा है कि यह पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है, और दुर्भावनावश ये सब कुछ किया जा रहा है।
गौरतलब है कि बीते 2 नोटिस के बाद गोल बाजार पुलिस ने पुनीत को तीसरे नोटिस में 8 मई तक की मियाद बयान दर्ज कराने के लिए दी थी। जिस पर पुनीत ने आज सुबह तकरीबन 10:30 बजे गोल बाजार थाने पहुंचकर अपना प्राथमिकी बयान दिया है। डॉ पुनीत गुप्ता को बिलासपुर हाईकोर्ट से इस मामले में पहले ही जमानत मिल चुकी है। जिसके बाद पुनीत ने आज उस जमानत के दस्तावेज गोल बाजार थाने में प्रस्तुत किए हैं।

विभागीय कमेटी ने दर्ज़ कराई थी कमेटी
गौरतलब है कि डीकेएस अस्पताल के भर्ती और उपकरण खरीदे की निविदा मामले में पूर्व अधीक्षक डॉ पुनीत गुप्ता पर 15 मार्च को गोल बाजार थाने में अपराध दर्ज किया गया था इस अपराध की अनुशंसा स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाई गई इस प्रकरण के लिए जांच कमेटी ने की थी जिसके बाद धारा 409, 420, 467, 468 और 120 बी के तहत डॉ पुनीत गुप्ता को आरोपी बनाया गया था।