नकली नोट मामलें में दिल्ली के ब्रोकर की तलाश हुई तेज़

नकली नोट की पड़ताल में दिल्ली पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

रायपुर। नकली नोट मामलें में राजधानी पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने दिल्ली में अपना डेरा जमाया हुआ है। क्राइम ब्रांच की टीम रायपुर में पकड़े हुए आरोपियों के साथी की तलाश में दिल्ली पहुंची हुई है, लेकिन फिलहाल टीम के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है।

नकली नोट

मिली जानकारी के मुताबिक पांच करोड़ साठ लाख रुपए के नकली नोट छाप चुके, निखिल सिंह और उसकी पत्नी पूनम अग्रवाल को नोट छापने की ट्रिक बताने वाला व्यक्ति दिल्ली का है। इसी व्यक्ति ने इन्हे कागज, स्याही सहित प्रिंटर की व्यवस्था कराई थी। इस बात का कबूलनामा भी दोनों ही अपराधियों ने अपने बयानों में किया है। लिहाजा पुलिस अब इन शातिर अपराधियों की निशानदेही पर दिल्ली के उस व्यक्ति तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। जो नकली नोट छापने में इनकी मदद किया करता था। पुलिस को उस व्यक्ति की तलाश इस लिहाज से भी है कि राजधानी रायपुर के अलावा उस व्यक्ति ने किन और शहरों में इस तरीके की मशीन भेजी है। और की शहरों में नकली नोट का कारोबार देश के अंदर फैलाया है।

एनजीओ ब्रोकर्स की भी तलाश
रायपुर से गिरफ्तार इस पति पत्नी के अलावा दिल्ली के इस शख्स की गिरफ्तारी से यह सभी बात साफ होगी कि यह गिरोह किन किन कंपनियों और एनजीओ के ब्रोकर से डील करते थे और सीएसआर फंड के नाम पर अब तक यह सभी लोग कितने का घोटाला कर चुके हैं।