छत्तीसगढ़ पुलिस मुख्यालय में भी हनी ट्रैप मामलें में चली फाईल…

जांच पड़ताल और पूछताछ के लिए जा सकती है छत्तीसगढ़ पुलिस

रायपुर। भोपाल में हनी ट्रैप मामले में हुए खुलासों की कड़ी छत्तीसगढ़ से भी जुड़ने के बाद सूबे की सियासत में खलबली मची हुई है। वर्तमान सरकार जहां पिछली भाजपा सरकार पर आंखें तरेर रही है, वहीं भारतीय जनता पार्टी भी इस मामले में हरसंभव जांच कराने की मांग कर रही है। इसके अलावा कांग्रेस के गृहमंत्री ने भी इससे जुड़े हर व्यक्ति पर भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई की बात कह डाली है। अब तक इस मामले में प्रदेश से एक पूर्व मंत्री, दो आईएएस समेत कई नेताओं विधायकों और अफसरों के नाम शामिल होने की खबरे सियासी गलियारों में घूम रही है। हालांकि इस मामले में अभी मध्यप्रदेश में चल रही जांच में परत दर परत कई खुलासे हो रहे है।

अब खबर यह है कि हनीट्रैप में पुलिसिया गिरफ्त से जेल तक पहुंची इन महिलाओं को छत्तीसगढ़ पुलिस भी इंटेरोगेट कर सकती है। जिसमें राज्य के पूर्व मंत्री और तमाम उन अधिकारियों के नाम सामने लाने की कोशिश की जाएगी जो इस मामले में संलिप्त है। खबर है कि पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए एक फाइल भी चलाई है। इसमें राज्य सरकार से इस मामले में जांच की अनुमति मांगने और कोर्ट से पूछताछ की अनुमति लेने जैसे तमाम कागज़ी कार्यवाही शुरू हुई है। खबर है कि जैसे ही यह अनुमति सरकार की तरफ दी जाती है, वैसे ही इस मामले में एक टीम बनाकर छत्तीसगढ़ पुलिस मध्यप्रदेश में इन महिलाओं से पूछताछ कर सकती है, हालांकि इस पूरे मामले में अब तक सूबे के तमाम अफसर कुछ भी कहने से बच रहे है।

90 वीडियो बरामद
हनी ट्रैप में मध्यप्रदेश की पुलिस ने अब तक जांच में 90 वीडियो बरामद किए है। इन वीडियोन में 30 वीडियो सफेदपोशो के बताए जा रहे है, जो वीडियो में जिस्मानी खेल खेलते हुए दिखाई दे रहे है। इतना ही नहीं बल्कि ये सफेदपोश कई सियासी और सरकारी खुलासे करते भी सुने जा रहे है। हालाँकि इन वीडियो को पुलिस ने जाँच पड़ताल के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा जा चुका है।