पांच जिला अस्पतालों को मिला कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल अवार्ड

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना के तहत चयनित अस्पतालों को पुरस्कृत किया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग छत्तीसगढ़ द्वारा स्वच्छ अस्पताल योजना के तहत कायाकल्प 2018-2019 के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार वितरण समारोह आज राजधानी रायपुर के मेडिकल कॉलेज परिसर आयोजित किया गया।


कायाकल्प योजना यानी स्वच्छ अस्पताल योजना में शासकीय अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में स्वछता, संक्रमण नियंत्रण एवं साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2015 से योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना के तहत लोक स्वास्थ्य संस्थाओं में गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए मानकों के अनुरुप सेवाएं प्रदाय किए जाने वाले अस्पतालों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर क्वालिटी सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है।

इन मानकों पर मिला पुरस्कार
योजना के तहत अस्पतालों को 6 मानकों जिसमें अस्पताल का रख-रखाव, साफ-सफाई, वेस्ट-प्रबंधन, संक्रमण नियंत्रण, सपोर्ट सुविधाएं, हायजीन प्रमोशन पर खरा उतरना पड़ता है। वहीं जिला चिकित्सालय श्रेणी में प्रथम पुरस्कार 50 लाख रुपए और द्वितीय 20 लाख रुपए और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अलग-अलग श्रेणी के आधार पर पुरस्कार प्रदान किया गया साथ ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को भी पुरस्कृत किया गया।

पांच जिला अस्पताल हुए पुरस्कृत
जिला अस्पतालों में बलौदाबाजार-भाटापारा, बीजापुर, जशपुर, कांकेर और कोरबा को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में अभनपुर, बकावंड, बेरला, भानुप्रतापपुर, बिल्हा, बोड़ला, चरामा, छुईखदान, करतला, कटघोरा, कुरूद, लैलुंगा, लोहांडीगुड़ा, नगरी, नरहरपुर, पलारी, रतनपुर और विश्रामपुरी को कायाकल्प पुरस्कार से नवाजा गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आरा, अड़ावाल, अड़ेंगा, अमादण्ड, अनंतपुर, बागोडार, बालंगी, बांधाबाजार, बासनवही और बसदई प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को कायाकल्प प्रदान किया गया है।