रायपुर पहुंची गांधी विचार पदयात्रा, मंत्री अनिला भेड़िया और धनेंद्र साहू ने की अगवानी

पांचवें दिन सिलीडीह, कनामुक़ा और कचना पहुँची पदयात्रा

रायपुर। गांधी विचार पदयात्रा के पांचवें दिन आज पदयात्रियों का जत्था ग्राम सिलीडीह से रवाना होकर ग्राम कानामुका तथा कचना पहुंची, जहां पर सभाएं आयोजित कर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन दर्शन पर जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीणों के बीच अपने विचार रखे। ग्राम कचना में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश की महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मार्गदर्शन में 4 अक्टूबर से गांधी विचार पदयात्रा ग्राम कंडेल से निकाली गई है। इसका उद्देश्य बापू के नैतिक मूल्यों व आदर्शों को आत्मसात कर सर्वजन हिताय के लिए काम करना है। उन्होंने उपस्थित लोगों से महात्मा गांधी के बताए मार्गों का अनुसरण कर अपने जीवन को श्रेष्ठ बनाने का आह्वान किया।


पहले ग्राम कानामुका, फिर बाद में कचना में पैदल चलकर जनप्रतिनिधि व ग्रामीणजन पहुंचे। इस दौरान कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि प्रदेश की मौजूदा सरकार बापू के बताए मार्ग पर चलकर ढाई करोड़ जनता की भलाई के लिए पिछले 10 महीने से कार्य कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश भर के किसानों की कर्ज माफी, बिजली बिल हाफ, तथा नरवा गरवा घुरवा बाड़ी के माध्यम से प्राचीन जीवन शैली को पुनर्जीवित कर प्रदेशवासियों को आत्मनिर्भर बनाने का कार्य कर रही है।

सत्य और अहिंसा के बुते मिली थी आज़ादी-धनेंद्र
अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू ने कहा कि गांधी जी के सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलकर ही देश हो मजबूत बनाया जा सकता है। इसी सत्य और अहिंसा के बलबूते पर गांधी ने देश को आजाद कराया। इसी दिशा में राज्य सरकार सामाजिक समरसता के साथ राज्य के चहुंमुखी विकास के लिए कार्य कर रही है और जनकल्याणकारी योजनाएं चलायी जा रही है। इनके माध्यम से समृद्ध छत्तीसगढ़ बनाया जा सकेगा।