चार करोड़ की लागत से बनेगा सिकलसेल संस्थान का हाईटेक भवन

सिकलसेल संस्थान भवन निर्माण के लिए हुआ भूमि पूजन

रायपुर। राजधानी में सिकल सेल संस्थान छत्तीसगढ़ के लिए भवन का निर्माण का भूमि पूजन किया गया। इस भवन का निर्माण 1 साल के भीतर किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर और कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस भवन निर्माण के लिए आधार शिला रखी है। जिसके निर्माण के लिए छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा निर्माण कार्य में सहयोग किया जाएगा। इस नए सिकलसेल परिसर का क्षेत्रफल 6160 वर्ग मीटर है। जिसमें चार करोड़ 40 लाख रुपए की लागत से सिकल सेल संस्थान के भवन का निर्माण किया जाएगा।

SickleSell

गौरतलब है कि सिकलसेल संस्थान द्वारा राज्य के प्रत्येक स्थान तक सिकल सेल रोग संबंधी जानकारी पहुंचाने के उद्देश्य से कई महती योजनाएं चलाई जा रही है। संस्थान सिकलसेल से रोकथाम और जन जागरूकता के विभिन्न कार्ययोजना पर गाँव गाँव तक पहुँचाती है। वर्तमान में संस्थान द्वारा प्रोजेक्ट के माध्यम से कैंप लगाकर जांच और परामर्श किया जाता है। आपको बता दें कि सिकलसेल संस्थान छत्तीसगढ़ एक स्वशासी संस्था है।

 

इसकी स्थापना छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जुलाई 2013 में रायपुर में की गई थी। इस संस्थान का कार्य जन सामान्य में सिकल-सेल रोग के संबंध में जानकारी बढाना है और रोगियों की पहचान कर मरीज को इलाज के लिए आधुनिक सुविधा निशुल्क प्रदान करना है। सिकलसेल संस्थान राज्य का ऐसा चिकित्सालय है, जहां किसी भी प्रकार का कैश काउंटर नही है। संस्थान में सिकलसेल रोगियों की समस्त जांच और उपचार के साथ दवाइयां भी निःशुल्क दी जाती है।

 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.