आयकर छापा : फ़र्ज़ी बिल और टैक्स चोरी का ज़ख़ीरा

चार राज्य के 50 ठिकानों में आईटी ने दी थी दबिश

रायपुर। छत्तीसगढ़ समेत 4 राज्यों में पड़े आयकर के छापे में आज भी कार्यवाही जारी रही। चार राज्यों के 50 ठिकानों में दस्तावेज और आय-व्यय का लेखा-जोखा आईटी के अधिकारी खंगाल रहे है। वही आईटी के विश्वसनीय सूत्रों की अगर मानें तो यह पूरा मामला बड़ी मात्रा में कर चोरी और बेनामी संपत्ति का बताया जा रहा है। इसके आलावा कई फ़र्ज़ी कम्पनी और बिलिंग का भी खुलासा आयकर की इन्वेस्टिगेशन टीम कर सकती है। छापेमारी के दूसरे दिन बुधवार को जारी कार्रवाई में आयकर की टीम ने सुबह से ही राजधानी रायपुर समेत देशभर के सभी 50 ठिकानों पर दस्तावेज खंगालने का काम किया है।

                      जिसमें फेक बिलिंग, फॉल्स फार्म और टैक्स चोरी से जुड़े दस्तावेज़ मिलने की बात आयकर सूत्रों ने कही है। आयकर की टीम ने 50 ठिकानों में अलग-अलग कारोबारियों को निशाने पर लिया है। जिसमें स्टील इंडस्ट्री, रियल स्टेट, आइसक्रीम, मैरिज गार्डन और रिटेल शॉप समेत अन्य कारोबारी शामिल है। फिलहाल आयकर के इन्वेस्टिगेशन विंग ने अब तक इस मामले में किसी भी तरह की रकम की बरामदगी, टैक्स चोरी या बेनामी संपत्ति का खुलासा नहीं किया है। संभवत गुरुवार को इस रेड की कार्रवाई का पूरा ब्यौरा आयकर की इन्वेस्टिगेशन विंग मीडिया के सामने रख सकती है।

इन संस्थानों पर पड़ा है छापा
देशभर के 4 राज्यों समेत छत्तीसगढ़ की राजधानी में मंगलवार को आयकर की टीम ने अपनी कार्रवाई शुरू की थी। जिसमें सफायर ग्रीन, हाईटेक इस्पात, नंदन स्टील, गौरव गार्डन समेत कई संस्थानों में आईटी की टीम ने दबिश दी थी। यह पूरी कार्यवाही इतनी गोपनीय थी कि पुलिस को भी इसकी सूचना मौके पर पहुंचने से कुछ देर पहले ही दी गई थी।