जनचौपाल : रतनपुर बनेगा तहसील, सीएम भूपेश ने की घोषणा

नियम विरुद्ध संचालित प्लास्टिक फेक्ट्रियों की जांच के दिए निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जन चौपाल भेंट मुलाकात कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के प्रमुख तीर्थ स्थल, पुरातन नगरी और मां महामाया की नगरी रतनपुर को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने जन चौपाल में रतनपुर से आए नागरिकों के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान यह घोषणा की। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि 15 सालों से वे लोग रतनपुर को तहसील का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं। आसपास की 49 ग्राम पंचायतों ने भी इसके लिए सहमति दी है। रतनपुर से बिलासपुर लगभग लगभग 25 किलोमीटर और कोटा 18 किलोमीटर दूर है। रतनपुर में तहसील कार्यालय प्रारम्भ होने से नगरवासियों को काफी सहूलियत होगी। रतनपुर की जनसंख्या लगभग पच्चीस हजार है। पुराने समय में भी रतनपुर अनेक अवसरों पर राजवंशों की राजधानी रही है।


इसके साथ ही मुख्यमंत्री बघेल ने रायपुर कलेक्टर और एसपी को शहरों की आबादी वाले क्षेत्रों में नियम विरुद्ध संचालित प्लास्टिक फैक्ट्रियों की जांच के निर्देश दिए हैं। छत्तीसगढ़ नागरिक संघर्ष समिति रायपुर के अध्यक्ष विश्वजीत मित्रा ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें बताया कि नियम विरुद्ध संचालित प्लास्टिक फैक्ट्रियों के पास पर्यावरण विभाग से अनुमति प्रमाण पत्र भी नहीं है लेकिन इन्हें बिजली आपूर्ति की जा रही है। वर्ष 2017 में ही प्लास्टिक पर प्रतिबंध हेतु अधिसूचना जारी हो चुकी है। मुख्यमंत्री ने उनकी बातें गंभीरता से सुनी और पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर को ऐसी फैक्ट्रियों की जांच कर प्रतिवेदन देने के निर्देश दिए हैं।