रथयात्रा : चौथे दिन नरसिंह अवतार में पूजे गए महाप्रभु

रायपुर। भगवान् जगन्नाथ रथयात्रा के चौथे दिन विष्णु जी के चौथे स्वरूप नरसिंह नाथ के रूप में भक्तो को दर्शन देते है। महाप्रभु का इस दिन विशेष श्रृंगार किया जाता है। भगवान् को इस दिन विष्णु के चौथ स्वरूप में ही पूजा जाता है।
जगत के नाथ स्वामी जगन्नाथ पुरी में अपने मौसी के यहाँ गुंडीचा मंदिर में भक्तो को दर्शन दे रहे है। इसी मान्यता और परंपरा का निर्वहन राजधानी में भी किया जा रहा है। लगभग 500 साल पुराने राजधानी के टुरी हटरी स्तिथ भगवान् जगन्नाथ मंदिर में भी पुरी की तरह ही भगवान् की आरधना की जा रही है। स्वामी जगन्नाथ को रथयात्रा के चौथे दिन भगवान् विश्ने के चौथे अवतार नरसिंह नाथ के स्वरूप में पूजा गया और भोग लगाकर आरती की गई।
पौराणिक कथाओं के अनुसार जब भक्त प्रहलाद भगवान विष्णु का नाम लेते थे तो प्रह्लाद के पिता हिरण्यकश्यप उन्हें यातनाएं दिया करते थे। हिरण्यकश्यप को वरदान था कि उसकी मृत्यु न दिन में हो सकती थी न रात में। घर के भीतर और घर के बाहर भी उसकी मृत्यु नहीं हो सकती थी। ऐसे में भक्त प्रहलाद की रक्षा में भगवान विष्णु ने खंभा चीरकर नरसिंह अवतार लिया और घर की चौखट पर संध्याकाल में हिरण्यकश्यप का सीना चीरकर संहार किया था।

महाप्रभु का होगा स्वर्णाभूषणों से श्रृंगार
महाप्रभु की रथयात्रा के दस दिनों तक भगवान् विष्णु के दशावतार में दर्शन देते है। उनकी पूजा अर्चना भी उन्ही स्वरूपों में की जाती है। इसके बाद भगवान् दसवे दिन अपने स्थान श्रीमंदिर को लौटते है। जिसके बाद देशयनी एकादशी को भगवान् का स्वर्णाभूषणों से श्रृंगार किया जाता है, जिसे सोनाबेषा कहा जाता है। जिसके बाद भगवान् जगन्नाथ सभी देवी देवताओं के साथ बैकुंठ धाम जाते है। जिसके बाद भगवान् चार महीने तक बैकुंठ धाम में विश्राम करते है। जिसे चातुर्मास भी कहा जाता है।

देश टीवी पर होगा सीधा प्रसारण
स्वामी जगन्नाथ स्वामी की बहुड़ा यात्रा का सीधा प्रसारण 22 और 23 तारीख को देश टीवी पर हिंदी कमेंट्री के साथ प्रसारित किया जाएगा। बहुड़ा यात्रा से जुडी रस्मों का प्रसारण 22 तारीख को किया जाएगा साथ ही 23 तारीख को देवशयनी एकादशी के दिन भगवान् जगन्नाथ के क्षीरसागर में जाने के बाद शयन के लिए की जाने वाली तैयारी और पूजापाठ का प्रसारण भी किया जाएगा। जिसे देखने के लिए अपने टीवी चैनल में ओरटेल कम्युनिकेश के 722 नंबर चैनल और हैथवे / सीसीएन केबल नेटवर्क में 865 नंबर पर देख सकते है। साथ ही हमारी वेबसाइड deshtv.in पर इसका सीधा प्रसारण देखा जा सकता है।