मतदाता चुनावी पाठशाला मे ट्रेनरों का हुआ प्रशिक्षण

मास्टर्स ट्रेनरों द्वारा नाटक और मनोरंजक खेल के माध्यम से किया जाएगा मतदाताओं को जागरूक

रायपुर|लोकसभा निर्वाचन की सफलता के बाद अब आम मतदाताओं को जागरूक करने के लिए चुनावी पाठशाला शुरूआत की जा रही हैं। ये कार्यशाला राजधानी निमोरा में चल रही है। चुनाव पाठशाला को सक्रिय बनाने के लिए रोचक खेल और मनोरंजक तरीका अपनाया जा रहा हैं। इसके लिए दो दिवसीय स्टेट लेवल पर रिफ्रेशर कोर्स प्रारंभ किया गया है।
प्रतिभागियों को कार्यशाला में चुनावी साक्षरता क्लब के गठन व् क्रियान्वयन का स्वरुप बताया गया। जिस प्रकार से घर में रखे वाहन में जंग न लगे, इसके लिए उसे समय-समय पर चलाना पड़ता हैं। ठीक उसी प्रकार निर्वाचन के बाद इस प्रक्रिया को एक्टिवेट रखने के लिए आगामी निर्वाचन तक मतदाताओं को जागरूक करने का क्रियाकलाप चलता रहेगा।

‘स्वीप‘ कार्यक्रम रहा सार्थक
पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के दौरान चुनावी साक्षरता क्लब के माध्यम से बेहतर कार्य किया गया है,जिसके चलते छत्तीसगढ़ में मतदाता जागरूकता बढ़ी हैं। इसी को देखते हुए जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स के लिए आयोजित कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य निरन्तरता व सक्रियता हैं। सक्रिय रूप से चुनावी साक्षरता क्लब के माध्यम से विविध मतदाता जागरूकता के कार्यो को करते रहे। चुनावी साक्षरता क्लब बहुआयामी उदेश्यों को लेकर एक सामुदायिक संवाद और जागरूकता का कार्यक्रम हैं। इसके माध्यम से समुदाय में रचनात्मकता व् सकारात्मक सोच का विकास होगा और समुदाय को लाभ मिलेगा। इससे समाज को ही फायदा होगा।

मतदाताओं में दिखा जागरूता
विगत वर्षो के चुनाव में काफी परिवर्तन आया हैं। इस बार के चुनाव में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतदाता जागरूकता के लिए लगातार प्रयास किये गए हैं। जिसका सार्थक परिणाम छत्तीसगढ़ के चुनावो में देखने के लिए मिला हैं। आज स्थिति यह है कि पंचायत स्तर तक के लोगों को स्वीप कार्यक्रम के बारे में पता है। जिसका श्रेय रास्ट्रीय , राज्य , जिला व् नोडल अधिकारियो के समर्पण का परिणाम हैं। इस कार्यशाला का उद्देश्य समुदाय में निर्वाचन को लेकर जागरूक करना और उत्सुकता का विकास करना है।

चुनावी पाठशाला को बनाया गया मनोरंजक
भारत निर्वाचन आयोग के सभी मतदान केन्द्रों पर चुनाव तथा भावी मतदाताओ को जानकारी देने के लिए रोचक व् मनोरंजक कार्यक्रम डिजाईन किया गया हैं, जो अत्यंत लोकप्रिय हुआ हैं। साथ ही कार्यशाला के दो दिन की रणनीति से अवगत कराया । यह प्रशिक्षण छिपी प्रतिभाओ को सामने लाने का मंच हैं। कार्यशाला में संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी समीर विश्नोई व संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी पद्मिनी भोई साहू की उपस्थिति में किया गया। इस कार्यशाला में 27 जिलो से दो- दो जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर षामिल हुए। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ के मार्गदर्शन में चुनाव पाठशाला के क्रियान्वयन के लिए जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स की दो दिवसीय राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन ठाकुर प्यारेलाल राज्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास संसथान निमोरा रायपुर में आयोजित किया गया।