भड़ककर बोले मुकेश-फोन टेपिंग नहीं, मुझ पर लगे आरोप झूठे

खुद पर लगे आरोपों को आईपीएस मुकेश गुप्ता ने किया खारिज़

रायपुर। फोन टेपिंग मामलें में लगे सभी आरोपों को आईपीएस मुकेश गुप्ता ने सिरे से खारिज कर दिया है। गुप्ता ने कहा कि मैंने कोई फोन टेपिंग नहीं की है। गुप्ता ने भड़क कर ये भी कहा कि मुझे अब तक कोई नोटिस ही नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि इस मामलें में वो अभी हाईकोर्ट में और याचिकाएं लगाने की तैयारी कर रहे है।

आईपीएस मुकेश गुप्ता                गुप्ता ने अपने सभी आरोपों को सिरे से खारिज़ करते हुए कहा कि मुझ पर जो भी आरोप लगाए जा रहे है वो सभी झूठे और बेबुनियाद है। ये सब केवल मुझे फ़साने की नियत से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी दफ्तर से मैंने कई बड़े मामलों का खुलासा किया करोडो रुपए पकडे जो शायद छत्तीसगढ़ के इतिहास में किसी ने नहीं पकडे थे। अब उसमे से कुछ आरोपी छूट चुके है। जिन्हे बचाने ये सारा खेल खेलने का आरोप भी गुप्ता ने लगाया है।

आईपीएस मुकेश गुप्ता                                      आईपीएस मुकेश गुप्ता से जब पत्रकारों ने फोन टेपिंग से जुड़ा सवाल किया तब उन्होंने इस पुरे मामलें को क्लीयर करते हुए कहा कि-

” जो फोन टेपिंग की गई है, उसे जस्टिफाई करने बैक डेट में कंपलेन ली गई है। उन्होंने कहा कि फोन टेपिंग करने का मुझे अधिकार है। ऐसा नहीं है कि अभी ये सब नहीं हो अब भी हो रहा, हजारों टेपिंग अभी भी हो रही है। इसके लिए किसी कंपलेन की जरूरत ही नहीं है। और ये एक लीगल प्रोसीजर है। गुप्ता ने कहा कि कंपलेन का रजिस्टर कौन मेंटेन करता है, एक हवलदार। हवलदार मुझसे दस रैंक नीचे हैं, आप सभी मेरे नेचर को जानते हैं, एसपी भी मुझसे बात नहीं करते, तो हवलदार से क्या मैं बात करूंगा। “

मेरे पास एसीएस और सीएस के ऑर्डर है-गुप्ता
मुकेश गुप्ता इस मामलें में एक बड़ा बयान ये भी दिया है कि उनके पास एसीएस और सीएम के ऑर्डर थे जिसके बाद उन्होंने ये सब किया है। गुप्ता ने कहा कि – फोन टेपिंग के लिए एसीएस एन के असवाल के आदेश में दस्तखत हैं। चीफ सेक्रेटरी विवेक ढांड ने एप्रुव किया है, तो फिर कैसे फोन टेपिंग गलत हो सकता है। मुकेश गुप्ता ने आरोप लगाया कि मीडिया को गलत ढंग से फीड किया जा रहा है।