पीसीसी चीफ़ को धमकाने वाला नक्सली नहीं…. निकला कांग्रेसी

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल को फोन कर नक्सली बन धमकी देने वाला कोई और नहीं बल्कि उन्ही की पार्टी का कार्यकर्ता निकला। इस कार्यकर्ता की गिरफ्तारी आंध्रप्रदेश पुलिस की मदद से कर ली गई है। जिसे अपनी हिरासत में लेने पुलिस की एक टीम विजयवाड़ा पहुंच चुकी है। कल दोपहर या देर शाम तक उसे रायपुर लाया जाएगा।
मिली जानकारी के मुताबिक़ विजयवाड़ा का रहने वाला युवक…कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्त्ता है, जिसकी शिनाख़्त पुलिस ने सी वीरू राजू के नाम पर की है। राजू ने कर्नाटक चुनाव के दौरान बघेल से मुलाकात भी की थी जिस दौरान उसे बघेल का नंबर मिला था। शुरुवाती पूछताछ में पुलिस राजू से इस तरह फोन करने की वजह नहीं उगलवा पाई है। वहीँ एसएसपी अमरेश मिश्रा ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है।
गौरतलब है कि तक़रीबन हफ़्तेभर पहले पीसीसी चीफ भूपेश बघेल को शाम करीब 7 बजे नक्सली के नाम पर एक फोन आया था, जिसमें चुनाव प्रभावित करने की बातें कही गयी थी। इसकी शिकायत भूपेश बघेल ने थाने में कर दी थी।

अब खड़े हुए कई सवाल
अपनी ही पार्टी के एक कार्यकर्ता से आए फोन के बाद पार्टी के भीतर ही कई तरह के सवाल बुलबुले की तरह उठ रहे है। सबसे पहला और कॉमन सवाल ये उठ रहा है कि आखिर राजू ने भूपेश को क्यों फोन किया ? वहीँ ये भी बाते भी उठ रही है कि राजू का इस्तमाल कहीं राजनैतिक स्टंट के लिए तो नहीं किया गया। इसके आलावा बघेल के विरोधियों पर भ्ही समर्थकों की नज़रें तिरछी है। हालाँकि इन सभी सवालों के जवाब राजू के पुलिसिया बयान से ही मिल पाएंगे।