पोला तिहार : भूपेश-रमन ने छत्तीसगढ़ी में दी पोरा तिहार के बधाई

पोला तिहार पर भूपेश, रमन, ताम्रध्वज समेत तमाम नेताओं ने किया ट्वीट

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को पोला तिहार की बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ का पोला तिहार मूल रूप से खेती-किसानी से जुड़ा पर्व है। सांस्कृतिक विरासत और परम्परा रही है, कि हम खेती में सहायता के लिए पशुधन का आभार व्यक्त करते हैं। अन्न और भोजन से संबंधित बर्तन को भी सम्मान देते हैं। इस दिन हम घर में ठेठरी,खुरमी जैसे कई पकवान बनाकर बैलों और जाता-पोरा की पूजा करते हैं और अन्न, जन, धन से घर भरा होने की प्रार्थना करते हैं। घरों में प्रतिमान स्वरूप मिट्टी के बैलों और बर्तनों की पूजा की जाती है, जिसे बच्चों को खेलने के लिए दिया जाता है। बघेल ने कहा कि अपनी परम्पराओं और संस्कृति से बच्चों को जोड़कर सहेजने का यह बहुत अच्छा माध्यम है। बघेल ने अपने ट्वीटर पर भी पोला तिहार की छत्तीसगढ़िया अंदाज़ में बधाई दी है।

सीएम भूपेश के आलावा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने भी पोला तिहार पर प्रदेश की जनता को बधाई दी है। रमन ने भी ठेठ छत्तीसगढ़ी में ट्वीट कर सीएम भूपेश को टक्कर दी है।

इधर सूबे के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने भी अपने ट्वीटर पर एक वीडियों के ज़रिए पोला तिहार की बधाई दी है। पोला के साथ ही मंत्री साहू तीजा तिहार पर भी बहनों को अशेष शुभकामनाएं दी है।

नगरीय निकाय मंत्री शिव ड़हरिया ने भी पोला और तीजा त्यौहार की शुभकामनाएं दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा हमर छत्तीसगढ़ के चिन्हारी पोरा तिहार के जम्मो झन मन ला गाड़ा गाड़ा बधाई। ये तिहार किसान भाई मन के आस्था अउ पशुधन बर हमर कृतज्ञता बताये बार मनाथन आवव एखर संरक्षण के संकल्प लेबो।

संस्कृति मंत्री ने भी पोला की बधाई प्रेषित की है। भगत ने कहा – “गोवंश को समर्पित पर्व पोला के पावन अवसर पर समस्त छत्तीसगढ़ वासियों विशेषकर किसान बंधुओं को हार्दिक बधाई। मैं कामना करता हूँ कि आपके खेत लहलहाते रहें, घर-आँगन में सुख समृद्धि का वास हो। आप दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की करें।”