पुलिस परिवार हड़ताल पर सियासत शुरू, रमन बोले-जानकारी नहीं, भूपेश ने माँगा इस्तीफ़ा

 

रायपुर। इसी महीने की 25 तारीख से पुलिस परिवार के हड़ताल को लेकर प्रदेश में सियासत गरमाने लगी है। एक तरफ तो मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने ऐसी कोई भी जानकारी नहीं होने की बात कहकर मामलें को टरकाया है। वहीं इस मुद्दे को तूल देने में कांग्रेस बिल्कुल नहीं चूक रही है। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने मामलें में दिए मुख्यमंत्री के बयान को अपने ट्विटर अकाउंट पर अपडेट कर तंज़ कसा है।

भूपेश ने पोस्ट में लिखा है

” कैसा कप्तान है यह भाजपा का ? कैसा मुख्यमंत्री है जो अपने राज्य के बारे में नहीं जानता ? जो अपने राज्य के उन पुलिसकर्मियों की परेशानी के बारे मेें नहीं जानता जो बिना काम के घंटे गिने और बिना अवकाश घिस रहे हैं ? बेहद शर्मनाक !! ऐसे मुख्यमंत्री को तो तुरंत ही पद छोड़ देना चाहिए। “

                                         गौरतलब है कि राजधानी में पुलिस परिवार 25 जून को धरना देने की तैयारी कर रहा है। धरना स्थल पर इस प्रदर्शन के लिए पुलिस कर्मियों के परिजनों ने बकायदा अनुविभागीय दंडाधिकारी द्वारा लिखित अनुमति भी ले ली है। अनुमति मांगने पुलिसकर्मियों के परिजनों ने तक़रीबन डेढ़ सौ परिवार के सदस्यों ने अपना हस्ताक्षरित पत्र एडीएम को सौपा था जिसपर एडीएम ने अनुमति प्रदान कर दी है। 25 जून को अब ये पुलिस परिवार धरना स्थल पर एक जुट होकर पुलिस कर्मियों के लिए अपनी आवाज़ बुलंद करने की तैयारी में है। मिली जानकारी के मुताबिक परिवार के सभी सदस्य एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के बाद कलेक्टर के मार्फ़त मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने नाम ज्ञापन सौपेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक़ परिजन पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ के अलावा बुलेट प्रूफ जैकेट, मकान, वाहन भत्ते और शिफ्ट में ड्यूटी जैसी मांगों को लेकर धरना देंगे।