रमन कैबिनेट का फैसला, माडा क्षेत्रों दिया जाएगा 02 किलो देसी चना

डेंटल व मेडिकल कालेजों को मिला नियुक्ति का अधिकार

रायपुर। अब प्रदेश के 09 माडा क्षेत्रों के 1 हजार 80 गांवों में रहने वाले अंत्योदय राशन कार्डधारकों को भी देसी चना मिलेगा। बुधवार को हुई रमन कैबिनेट ने छत्तीसगढ़ खाद्य एवं पोषण सुरक्षा अधिनियम 2012 के तहत ये फैसला लिया है। इस फैसले के बाद अब माड़ा क्षेत्र के निवासियों को हर महीने प्रति राशन कार्ड 02 किलो देशी चना 05 रूपए प्रति किलो की दर से दिया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक के इस फैसले से लगभग एक लाख 27 हजार राशन कार्ड धारक परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।

इसके आलावा कैबिनेट ने छत्तीसगढ़ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालयीन शैक्षणिक आदर्श सेवा नियम 2018 को प्रदेश में लागू करने का फैसला लिया है। इसके अन्तर्गत चिकित्सा महाविद्यालयों और दंत चिकित्सा महाविद्यालयों के लिए शिक्षकों की नियमित नियुक्ति के अधिकार स्वशासी समिति की कार्यकारिणी को दिया गया है। कैबिनेट ने ये भी कहा कि इन नियुक्तियों में चयनित शिक्षक अपने-अपने कॉलेजों में ही कार्य करेंगे। उनकी सेवाएं अस्थानांतणीय होंगी। हालाँकि इस फैसले से अधिष्ठाता, प्राचार्य और अस्पताल अधीक्षक जैसे प्रशासनिक पदों पर भर्ती नहीं की जाएगी।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री परिषद् ने पशुधन विकास विभाग में रजिस्टर्ड गौशालाओं को सौर-सुजला योजना के तहत सोलर पम्प देने का एलान किया है। मंत्रिपरिषद ने गौशालाओं में भी चरणबद्ध तरीके से सोलर पम्प लगाने का फैसला लिया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.