Sex CD : सीबीआई पर रोक बनी वज़ह ? भाजपा-कांग्रेस में रार…

सुप्रीम कोर्ट में सीडी कांड के केस ट्रांसफर के लिए सीबीआई ने की अपील

रायपुर। सूबे में सियासी भूचाल लाने वाले सेक्स सीडी कांड में एक नया मोड़ आया है। इस सीडी कांड की जाँच कर रही सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामलें को दूसरे राज्य की सीबीआई अदालत में ट्रांसफर करने की अपील की है। सीबीआई ने सर्वोच्च न्यायलय में अपील करते हुए ये दलील रखी है कि इस मामले की सुनवाई छत्तीसगढ़ से हटाकर किसी अन्य राज्य के सीबीआई कोर्ट में कराई जाए। सीबीआई ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि ऐसा करने से इस पुरे मामलें की सुनवाई निष्पक्ष और निर्भय होकर किया जा सकेगा।
क़ानून के जानकारों कि मानें तो दीगर राज्य में केस स्थानांतरित होने के बाद मामलें में बयान, पूछताछ के लिए भी सीबीआई को आसानी होगी। चूँकि वर्तमान कांग्रेस सरकार ने सीबीआई की इंट्री पर बैन लगाया है। इस बैन और सीबीआई की इस अपील पर अब भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर तंज़ कसा है।

                         भाजपा ने जहाँ सीबीआई की याचिका का स्वागत किया है। भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने जब कांग्रेस पार्टी ने जब सीबीआई को बैन किया था, ऐसे में निष्पक्ष जांच की उम्मीद तो नहीं की जा सकती, और सत्ता में बैठे बड़े लोग जिनके नाम भी इस मामले में शामिल है। ऐसे में यहां इस राज्य में निष्पक्ष जांच और निर्णय आने की उम्मीद कम ही दिखती है। लिहाजा सीबीआई ने इस मामले को स्थानांतरित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपनी एक याचिका दाखिल की है, जिसका हम स्वागत करते है। गौरीशंकर ने कहा कि इसके बाद अब मामले की जांच की कड़ी और आगे बढ़ेगी, जल्द से जल्द जनता के बीच सारे तथ्य सामने आएंगे। जिन पर आरोप है, वही आज सत्ता के मठाधीश हैं और ऐसे में यहां अब किस तरीके की जांच होगी यह आप सभी समझ सकते है, और वैसे भी यहां पहले ही पुलिस का कांग्रेसीकरण कर दिया गया है।

कांग्रेस ने दिया ये जवाब
इधर कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने इस मामलें पर भाजपा के हमले का जवाब देते हुए कहा कि सीबीआई भाजपा के इशारों पर काम कर रही है। सीबीआई और ईडी का खुलकर दुरुपयोग केंद्र के मोदी सरकार कर रही है, और जहां तक प्रदेश के सीडी कांड का सवाल है इसमें सीबीआई ने अपनी चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। इसके बाद सीबीआई का बहुत ज्यादा काम यहां नहीं रह जाता, यह पूरा मामला अब न्यायालय को देखना है, बावजूद उसके सीबीआई के द्वारा माननीय सुप्रीम कोर्ट में इस तरह की अर्जी देने का सीधा अर्थ यही निकलता है कि भाजपा के इशारों पर सीबीआई काम कर रही है। शुक्ला ने कहा हमें भारतीय न्याय प्रक्रिया पर पूर्ण विश्वास है, और सच जनता के बीच आएगा।