नान में सरकार को झटका, कोर्ट ने भट्ट की अर्ज़ी की खारिज

आरोपी शिवशंकर भट्ट के बयान पर कोर्ट ने जताई आपत्ति

रायपुर। नागरिक आपूर्ति निगम के कथित घोटाले के मामलें में भूपेश सरकार को कोर्ट से तगड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने नान के आरोपी शिवशंकर भट्ट के शपथ पत्र को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने भट्ट के धारा 164 के तहत दिए गए बयान की अर्जी को खारिज कर दिया है। इसके बाद इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है। सीजेएम पवन अग्रवाल के यहां धारा 164 के तहत बयान कराने की अर्जी लगाई थी।

गौरतलब है कि हाल ही में शिव शंकर भट्ट ने नान मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, पूर्व खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले समेत नान के अध्यक्ष लीलाराम भोजवानी पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। वही शिव शंकर भट्ट के इस बयान के बाद से ही सूबे की सियासत में जबरदस्त खलबली मची थी। भट्ट ने अपने बयान में पूर्व मुख्यमंत्री के कहने पर कई हेरफेर की बात कही थी। इसके अलावा भट्ट ने अपने बयान में 21 लाख से ज्यादा राशन कार्ड के फर्जी होने का खुलासा भी किया था। फिलहाल इस मामले पर सरकार के साथ ही साथ कांग्रेस को भी बड़ा झटका लगा है। क्योंकि कांग्रेस इस बयान के बाद से ही भाजपा सरकार पर आक्रामक रुख अपनाए हुए थी।

ये था शिवशंकर भट्ट का बयान

Big News : नान के पूर्व MD शिवशंकर भट्ट का रमन-मोहले पर आरोप