रायपुर में पार्किंग के लिए नहीं दी जगह तो चलाई गोली…

विवाद के बाद पूर्व सैनिक ने चलाई थी गोली गिरफ़्तार

रायपुर। राजधानी में गाड़ी की पार्किंग और रास्ता नहीं देने को लेकर गोली चल गई है। ये पढ़ने में जरा अटपटा जरूर लग रहा होगा, लेकिन यह सच है। राजधानी रायपुर में दिनदहाड़े गोली चलने की घटना से राजधानी पुलिस के पसीने छूट गए। वीवीआईपी रेसिडेंशियल एरिया और आईजी दफ्तर होने के बाद गोलीबारी की घटना से हड़कंप मचा रहा। हालाँकि मामलें में किसी को कोई जनहानि या घायल होने जैसी कोई बात नहीं हुई।


मिली जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला दो पड़ोसियों के बीच का बताया जा रहा है। जिसमें एक पड़ोसी ने दूसरे पड़ोसी की गाड़ी को रास्ता नहीं दिया और विवाद शुरू हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि एक पड़ोसी ने अपनी बंदूक से दूसरे पर फायर कर दिया और गोली कार में जाकर लगी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जब तफ्तीश शुरू की तो कहानी पुरानी निकली। दोनों परिवार के बीच काफी लंबे समय से किसी ना किसी बात को लेकर विवाद होता रहा है। शंकर नगर निवासी अरुण वाजपेयी और कुसुम जाजू के परिवार के बीच यह विवाद हुआ है।

             इसमें से अरुण पूर्व सैनिक है, जिस पर गोली चलाने का आरोप लगा है। फिलहाल इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पूरे मामले को समझा है और वारदात में इस्तेमाल हुए राइफल को बरामद कर चलाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद आगे की जांच पड़ताल कर कार्रवाई करने की बात कही जा रही है।

संबंधित पोस्ट

रायपुर की गुनविन बनीं कीट नन्हीपरी लिटिल मिस इंडिया 2019

नवरात्रि : हाथी पर विराजमान होकर पहुँची माँ दुर्गा, इन सिद्ध योग मुहूर्त का है संयोग…

क्रेता विक्रेता सम्मेलन : छत्तीसगढ़ के धान को मिलेगा अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार- CM

Big News : EOW की SIT ने की नान मामलें में बड़ी गिरफ्तारी…

Prostate Cancer : प्रोस्टेट केयर मंथ का रायपुर में होगा आयोजन

पोला तिहार : गर्भ पूजन और मिट्टी के खिलौने का ये महत्व

जब चाय बिस्किट के लिए नमस्ते चौक में रुके सीएम भुपेश बघेल…

रक्षाबंधन विशेष : देवराज इंद्र से पहले इन्हे बाँधी गई थी राखी…

Indian Railway : साफ़ नहीं ट्रेन तो इस एप से करें शिकायत

CG Govt : सहकारी समिति स्तर पर शुरू हुआ कृषक ऋण माफी तिहार

Weather Alert : छत्तीसगढ़ में होगी भारी बारिश ऑरेंज अलर्ट जारी

जल्द पूरा होगा अंतर्राज्यीय बस स्टैंड का काम-डाॅ एस. भारतीदासन