फिर बदला राज्योत्सव स्थल का पता…साइंस कॉलेज मैदान में होगा आयोजन

भाजपा बोली बदलापुर की राजनीति कर रही सरकार

रायपुर। हर साल की तरह इस साल भी 1 नवंबर को राज्य उत्सव मनाया जाएगा। लेकिन इस बार सरकार परिवर्तन के साथ ही राज्योत्सव के आयोजन स्थल में भी भूपेश सरकार ने बदलाव किया है। भूपेश कैबिनेट की बैठक मे निर्णय लिया गया कि इस बार प्रदेश का स्थपना दिवस राजधानी के शहर के बीच साइंस काॅलेज में तीन दिवसीय आयोजन किया जाएगा। आपको बता दें कि पिछली सरकार यानी रमन सरकार ने 7 साल पहले 2012 में नया रायपुर में राज्योत्सव की शुरुआत की थी। 2012 से 2018 तक लगातार नया रायपुर में ही राज्योत्सव मनाया गया। 2012 से पहले राज्योत्सव साइंस काॅलेज मैदान पर ही आयोजित किया जाता था।

                     कांग्रेस का कहना है कि नया रायपुर में ब्रांडिंग के उद्देश्य से बीजेपी सरकार ने राज्योत्सव को साइंस कॉलेज ग्राउंड से श्यामा प्रसाद मुखर्जी उद्योग एवं व्यापार परिसर में शिफ्ट किया था। नया रायपुर में स्थापना दिवस मनाए जाने से आम लोगों को काफी परेशानी होती थी, जिसका कांग्रेस लगातार विरोध कर रही थी। इधर कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि हर साल की तरह इस साल भी तीन दिवसीय राज्योत्सव होगा मगर इसका आयोजन साईस काॅलेज के मैदान पर होगा। साथ ही चौबे ने कहा कि इस राज्योत्सव में छत्तीसगढ़ के कलाकारों को ज्यादा महत्व दिया जाएगा जिससे छत्तीसगढ़ की संस्कृति निखर कर सामने आए। बैठक में अधिकारियों ने सुरक्षा से लेकर अन्य व्यवस्था के बारे में भी चर्चा हुई ताकि आम जनता को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े।

भाजपा ने बदलापुर से जोड़ा
राज्योत्सव का स्थान बदल कर साइंस कॉलेज मैदान रखे जाने पर भाजपा इसे बदलापुर से जोड़ रही है। बीजेपी प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि कांग्रेस बिना सोचे समझे केवल परिवर्तन की राजनीति कर रही है, जो समझ से परे है। उपासने की माने तो राज्योत्सव एक ऐसा उत्सव माना जाता है प्रदेश सहित देशभर से लोग इसे देखने आते है और इसके लिए बहुत बड़े जगह की ज़रूरत होती है। इसलिए पिछली सरकार ने नया रायपुर में यह आयोजन की शुरूआत की थी, जिसे प्रतिसाद भी मिल रहा था। लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार बदलापुर की राजनीति कर रही है।