प्रदेश के राजनीतिज्ञों ने बुना जीत का ताना-बाना

रमन-भूपेश ने मतदाताओं पर जताया विश्वास

रायपुर| छत्तीसगढ़ में हो रहे तीन चरणों में लोकसभा चुनाव का मंगलवार को अंतिम चरण है। प्रदेश में हाई प्रोफाइल सीट रायपुर और बिलासपुर को माना जा रहा है। पहले चरण और दूसरे चरण में वोटिंग प्रतिशत 70 फ़ीसदी के करीब पहुंचने के बाद राजनीतिज्ञों ने अपने-अपने दल के जीत का आंकड़ा मीडिया के सामने रखने लगे हैं।

छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में भाजपा की करारी हार के बाद लोकसभा चुनाव में भाजपा कार्यकर्ताओं के दम पर चुनावी मैदान में उतरी है। इस बार छत्तीसगढ़ के 11 सीटों पर भाजपा ने वर्तमान सांसदों के टिकट काटकर सभी नए प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतार दिया है। यही कमोबेश हालत कांग्रेस की भी है। कांग्रेस ने भी कुछ नए, तो कुछ वर्तमान विधायकों पर चुनावी दाव खेला है। अब तीसरे चरण पर सभी राजनीतिज्ञों की नजरें टिकी हुई है। मतदान के बाद सभी दलों के नेता अपनी-अपनी जीत का आंकड़ा तय करने में 23 मई तक लगे रहेंगे। अब मतदाताओं के द्वारा दिया गया मताधिकार का अंतिम परिणाम ही नेताओं के आंकड़ों पर मुहर लगाएगा।

इस बार भी है देश में मोदी की लहर-रमन सिंह
भारतीय जनता पार्टी पहले और दूसरे चरण में हुए मतदान के प्रतिशत को देखते हुए तीसरे चरण में भी प्रतिशत का आंकड़ा अधिक होने की बात कह रही है। साथ ही साथ देश में मोदी लहर होने की भी बात कहने में पीछे नहीं है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने तीसरे चरण के मतदान के पहले ही मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि इस बार फिर नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनेंगे,इसके लिए देशवासियों ने मन बना लिया है। भारी तूफान के बीच भी प्रचंड बहुमत हो रहे हैं, इससे साबित है कि भाजपा प्रदेश के 11 सीटों पर जीत दर्ज करेगी। आम जनता का रुझान भी देश की सुरक्षा और समृद्धि की ओर नजर आ रहा है। इसलिए नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना तय है।

loksabha election 2019
जनता चाहती है मोदी से छुटकारा-भूपेश बघेल
छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीत के बाद प्रदेश की सत्ता में कांग्रेस 15 साल बाद बैठी है। विधानसभा में अपनी जीत के आंकड़े को देखते हुए कांग्रेस लोकसभा चुनाव में भी प्रदेश की 11 सीटों पर जीत दर्ज करने की बात कह रही है। कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव को फाइनल के तौर पर माना है। प्रदेश और कांग्रेस के मुखिया भूपेश बघेल की माने तो मोदी लहर जैसी कोई बात देश में नहीं है। जैसे छत्तीसगढ़ में 15 साल के भाजपा राज से जनता परेशान थी,उसी तरह केंद्र की 5 साल की सत्ता से भी लोग परेशान हो गए हैं। अब बारी मतदाताओं की है जिसमें मतदाता नरेंद्र मोदी की सरकार को ठुकरा कर कांग्रेस की ओर बढ़ गए हैं। यही कारण है कि छत्तीसगढ़ के 11 सीटों पर कांग्रेस अपना परचम लहराएगी।