Big Breaking : नक्सली मुठभेड़ के बाद प्रदेशभर में जारी हुआ अलर्ट

नक्सली मुठभेड़ में पुलिस और फ़ोर्स के जवानों को मिली बड़ी सफलता

राजनांदगांव / रायपुर। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में हुए नक्सली मुठभेड़ के बाद अब प्रदेश भर में अलर्ट जारी किया गया है। खासकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में हाई अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस के खुफिया विभाग ने इस बात के लिए हाई अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि नक्सली 26 जनवरी को प्रदेश में एक बड़ी वारदात को अंजाम देने की नियत से काम कर रहे हैं।

जिसके लिए खुफिया विभाग ने नक्सल प्रभावित जिलों के एसपी और रेंज आईजी को अलर्ट जारी करते हुए जंगली इलाकों में सर्चिंग तेज करने के लिए कहा है। साथ ही नक्सल ऑपरेशन के सभी मुखिया को इस बात की चेतावनी भी दी है कि सर्चिंग के दौरान जवान किसी भी तरह की कोताही या लापरवाही ना बरतें। विभागीय सूत्रों की मानें तो माओवादी आने वाले गणतंत्र दिवस के दौरान एक बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में है।

वहीं माओवादियों ने 25 से 31 जनवरी तक बस्तर समेत भारत बंद का भी आह्वान किया है। जिसके लिए बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा, सुकमा, कोंटा, बीजापुर, नारायणपुर समेत तमाम अंदरुनी इलाकों में बैनर पोस्टर लगाकर दहशत का माहौल बना रहे हैं। इस बात को लेकर भी खुफिया विभाग ने सचेत रहकर इन इलाकों में ऑपरेशन चलाने की नसीहत राज्य सरकार और पुलिस को दी है।

भाग गए नक्सली
नक्सल प्रभावित राजनांदगांव जिले के गातापार थाना क्षेत्र के भावे जंगल में शुक्रवार की सुबह हुई मुठभेड़ में पुलिस ने एक बड़ी सफलता हासिल की। भावे जंगल में कैंप कर बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी कर रहे नक्सलियों पर पुलिस ने सर्जिकल स्ट्राइक किया। जिसमें पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। हालांकि मौके से 20 से 25 महिला और पुरुष समेत बड़े कैडर के नक्सली मौके से फरार हो चुके थे, लेकिन इस मुठभेड़ के बाद पुलिस को जंगल के कैंप से नक्सलियों के दैनिक उपयोग के सामानों का जखीरा बरामद हुआ है।