एक्टिवा की डिक्की का लॉक खोलकर चोरी करता था सामान

देशभर के कई राज्यों में कर चूका है इस तरह की चोरियां

रायपुर। अगर आप भी अपनी मोपेट की डिक्की में कीमती समान रख कर उसे महफ़ूज़ समझ रहें है, तो ये आपकी सबसे बड़ी भूल होगी। राजधानी रायपुर समेत देश के कई राज्यों में इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाला एक शातिर चोर रायपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा है। खमतराई थाने में दर्ज़ अपराध की जांच पड़ता के बाद ये शातिर पुलिस की गिरफ्तर में आया है।डिक्की का लॉक खोलकर चोरी

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ प्रार्थिया वर्षा भोसले ने थाना खमतराई में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह संतोषी नगर खमतराई में अपने परिवार के साथ रहती है। एवं एम. ए. की पढाई के साथ-साथ जी. टी. काॅम्पलेक्स खमतराई बाजार के पास कम्प्यूटर ट्रेनिंग सेंटर में भी काम करती है। खमतराई के ऑफिस में पीड़िता की गाडी मेस्ट्रो (सीजी 04 के एफ 1660) की डिक्की के अंदर रखा पर्स चोरी हो गया था। जिसमें आन्ध्रा बैंक का एटीएम कार्ड, मोबाईल फोन नगदी 45,000 रूपये, 01 जोडी सोने का छोटा झुमका समेत कई कीमती सामान चोरी हुआ था।                          जिसकी शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज़ किया था। इसके आलावा शालिनी कठवार ने थाना सरस्वती नगर में भी इसी तरह की एक शिकायत दर्ज़ कराई गई थी। इन दोनों अपराधों पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाला और अपराधी की पतासाजी शुरू की। संदेह के आधार पर उरला निवासी प्रतीक सोनी को पकड़कर घटना के संबंध में पूछताछ किया गया, जिसमें कड़ाई करने पर अपराधी ने अपना गुनाह कबुल किया।

1 लाख रुपए का सामान हुआ बरामद
पूछताछ में आरोपी प्रतीक सोनी ने बताया कि वह मूलतः जबलपुर मध्यप्रदेश का निवासी है जो वर्तमान में बजरंग मेटालिक पाॅवर उरला रायपुर में काम करता है। आरोपी के निशानदेही पर उसके कब्जे से चोरी की एटीएम कार्ड, 03 नग मोबाईल, नगदी 20,000 रूपये, 01 सोने की अंगुठी, 01 जोड़ी सोने का झुमका, 01 जोड़ी चांदी का बिछिया, 07 नग मोटर सायकल की नकली चाबी एवं घटना में प्रयुक्त एक्टिवा वाहन जप्त किया गया।