शहरी नवाचार कार्यशाला का मुख्यमंत्री भूपेश ने किया शुभारंभ

शहर विकास पर राय देने देश-विदेश से पहुंचे एक्सपर्ट

रायपुर। राष्ट्रीय शहरी नवाचार कार्यशाला का शुभारंभ आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया। एक दिवसीय कार्यशाला में नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया बतौर विशिष्ट अतिथि सम्मिलित हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता महापौर प्रमोद दुबे ने किया। इस कार्यशाला में शामिल होने देश-विदेश के नगरीय निकायों के प्रमुख भी रायपुर पहुंचे हुए है।


इस कार्यशाला में सम्मिलित होने के लिए जर्मनी के काॅसुल जर्नल डाॅ. जर्गन मोहराॅड, ट्युनेशिया के फर्स्ट सेक्रेटरी अली मेफताही, उत्तर प्रदेश पुलिस के स्पेशल डी.जी. महेन्द्र मोदी, उत्तराखण्ड मेट्रो के एम.डी. जितेन्द्र त्यागी, जम्मु कश्मीर के परिवहन सचिव अमित शर्मा, तेलंगाना नगरीय प्रशासन के निदेशक डाॅ. टी.के. श्रीदेवी, उत्तराखण्ड के हेल्थ डायरेक्टर डाॅ. मनु जैन, कर्णाटक के चीफ कंजर्वेटर फॅारेस्ट श्री राजकुमार श्रीवास्तव, इलेट्स के सी.ई.ओ. डाॅ. रवि गुप्ता भी शामिल हुए हैं।

                               इन अतिथियों के साथ ही इस कार्यशाला में डी.जी.(योजना) आर.के.विज, छत्तीसगढ़ नगरीय प्रशासन की विशेष सचिव श्रीमती अलरमेल मंगईडी, कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख,रायपुर स्मार्ट सिटी एम डी शिव अनंत तायल सहित छत्तीसगढ़ के विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी भी सम्मिलित हुए।

शहरी नवाचार पर हो रही है चर्चा
रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के मार्गदर्शन में यह आयोजन इलेट्स ग्रुप द्वारा किया जा रहा है। इस कार्यशाला में नागरिक सुविधाओं के विस्तार के लिए विश्व भर में किए जा रहे नवाचारों पर चर्चा हो रही है। विकसित होते शहरों में यातायात प्रबंधन, स्मार्ट परिवहन, शहरी लोक सतर्कता के साथ शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका पर चर्चा की जा रही है। इस दौरान कमिश्नर तायल ने यातायात प्रबंधन व ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के उन्नत तकनीकों के लिए जर्मनी में किए जा रहे नए नवाचारों पर चर्चा की। कमिश्नर तायल ने रायपुर में संचालित कार्ययोजनाओं व कार्यक्रमों से उन्हें अवगत भी कराया।