भाजपा-कांग्रेस में प्रत्याशी तय होने के बाद जीत के दावों का दौर शुरू

भाजपा-कांग्रेस कर रहे 11 सीटों पर जीत का दावा

रायपुर। लोकसभा चुनाव 2019 का आगाज 10 मार्च को भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा कर दिया गया था ।तब से लेकर राजनीतिक दलों में प्रत्याशियों को लेकर काफी उठापटक हो रही थी । जिसमें भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस दोनों ही दलों ने क्रमवार प्रत्याशियों की सूची जारी की।
Congress BJP                           जिसमें कांग्रेस ने बाजी मारते हुए सबसे पहले 5 प्रत्याशियों की सूची जारी की। उसके बाद भाजपा ने भी अपनी पांच प्रत्याशी मैदान में उतारे। उसके बाद हालांकि भारतीय जनता पार्टी ने बाकी बचे 6 सीटों पर प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी। उसके बाद अब जाकर कांग्रेस ने भी शेष प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी है। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को प्रचंड बहुमत मिला, जिसके चलते प्रदेश में कांग्रेस की सत्ता है और भाजपा ने 15 सालों के सत्ता को खोने के बाद फिर से खुद को रिचार्ज करने में लगी हुई है। वहीं कांग्रेस अपने प्रत्याशियों के दम पर लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने की बात कह रही है। साथ ही 5 साल के मोदी शासनकाल की सभी योजनाओं को नाकाफी बताते हुए मतदाताओं के बीच जाने की बात कह रही है।
जनता का भरोसा है मोदी – संजय
इधर भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने सभी प्रत्याशियों को मैदान में उतारने के बाद जीत का ताल ठोक दिया है। हालांकि इस बार भारतीय जनता पार्टी ने मौजूदा सभी सांसदों के टिकट काट कर पूर्व विधायक या पार्टी से अंदरूनी तौर पर जुड़े कार्यकर्ताओं को टिकट दिया है। हालांकि भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव को नरेंद्र मोदी के चेहरे पर लड़ने की बात भी कह रही है। 5 सालों तक मोदी के द्वारा किए गए कार्यों को आम जनता के बीच भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता ले जा रहे हैं। साथ ही भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव की मानें तो विधानसभा और लोकसभा में मुद्दे अलग-अलग होते हैं और जनमानस में वातावरण, मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाना है। ऐसे में भाजपा का मानना है कि भाजपा सभी सीटों पर जीत हासिल करेगी।