आईपीएल-13 : चेन्नई-राजस्थान को हर हाल में चाहिए जीत  

प्लेऑफ की रेस में बने रहने के लिए दोनों टीमों को इस मैच में जीत की सख्त जरूरत

अबू धाबी । इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में सोमवार को चेन्नई सुपर किंग्स का सामना राजस्थान रॉयल्स के साथ यहां शेख जाएद स्टेडियम में होगा। दोनों टीमें अपने पिछले मैच में मात खाने के बाद इस मैच में उतरेंगी और प्लेऑफ की रेस में बने रहने के लिए दोनों टीमों को इस मैच में जीत की सख्त जरूरत है।

चेन्नई को दिल्ली कैपिटल्स ने हराया था जबकि राजस्थान को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने मात दी थी। एक समय राजस्थान के लिए जीत पक्की लग रही थी लेकिन 19वें ओवर में अब्राहम डिविलियर्स ने बाजी पलट दी और बेंगलोर को जीत की ओर अग्रसर किया।

राजस्थान के लिए इस मैच में अच्छी बात यह रही थी कि उसकी बल्लेबाजी शानदार थी। सलामी जोड़ी में बदलाव किया गया था और बेन स्टोक्स के साथ रॉबिन उथप्पा को पारी की शुरूआत के लिए भेजा गया था। उथप्पा सफल रहे थे और उन्होंने अपने अंदाज में ही बल्लेबाजी की थी। स्टोक्स के साथ उन्होंने 50 रन जोड़े थे।

उनके अलावा कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी शानदार पारी खेल अर्धशतक जमाया था और उन्हीं के दम पर टीम एक मजबूत स्कोर खड़ा करने में सफल रही थी।

टीम प्रबंधन एक बार फिर उम्मीद करेगा कि टीम के बल्लेबाज इसी तरह का प्रदर्शन जारी रखें। साथ ही वह चाहेगा कि संजू सैमसन और बेन स्टोक्स अपनी फॉर्म में लौटें। सैमसन शुरूआती मैचों में बरसने के बाद विफल ही रहे हैं और स्टोक्स जब से आए हैं उन्होंने ज्यादा खास नहीं किया है, उस तरह का तो बिल्कुल भी नहीं जिस तरह के प्रदर्शन की टीम को आवश्यकता है।

जोस बटलर को टीम ने मध्य क्रम में भेजने का फैसला किया था। बटलर को नीचे भेजने का मतलब है कि टीम उनसे एक फिनिशर का रोल अदा करने को कह रही है, जिसकी काबिलियत उनमें है। निचले क्रम में साथ देने के लिए उनके पास राहुल तेवतिया हैं जो बड़े शॉट्स मारने में सक्षम हैं।

वहीं गेंदबाजी की जहां तक बात है तो जोफ्रा आर्चर और कार्तिक त्यागी ने लगातार दबाव डाला है। स्पिन में तेवतिया और श्रेयस गोपाल भी अच्छा कर पाए हैं, लेकिन एक संयुक्त प्रदर्शन की जरूरत टीम को अपने गेंदबाजों से हैं। जयदेव उनादकट ने पिछले मैच में टीम को जीत से हार की तरफ धकेला था। इस मैच में वो खेलते हैं या नहीं यह देखने लायक होगा।

चेन्नई की बात की जाए तो दिल्ली के खिलाफ उसके बल्लेबाज चले थे। सैम कुरैन के पहले ही ओवर में आउट होने के बाद शेन वाटसन, फाफ डु प्लेसिसि, अंबाती रायडू ने मोर्चा संभाला था और अंत में रवींद्र जडेजा ने तूफानी पारी खेल, टीम को प्रबल स्कोर दिया था।

कप्तान एमएस धोनी का फॉर्म हालांकि टीम कि चिंता का सबब है, क्योंकि धोनी अभी तक बल्ले से कमाल नहीं दिखा पाए हैं। चेन्नई के बल्लेबाजों का निरंतर फॉर्म में न रहना भी टीम के लिए एक चिंताजनक बात है। राजस्थान के खिलाफ कितने बल्लेबाज पिछले मैच के प्रदर्शन को कायम रखते हैं, यह देखना अहम होगा।

गेंदबाजी में असल मायनों में कुरैन टीम के लिए सफल रहे हैं। दिल्ली के खिलाफ भी 19वां ओवर फेंक उन्होंने मैच को चेन्नई के लिए आसान बना दिया था, लेकिन ड्वेन ब्रावो के न होने के कारण जडेजा को आखिरी ओवर फेंकना पड़ा था और टीम मैच हर गई थी।

ब्रावो की चोट कैसी है इस पर कोई जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है। वह खेलेंगे या नहीं, यह मैच के दिन ही पता चल सकेगा। अगर ब्रावो नहीं खेलते हैं तो जोश हेजलवुड के खेलने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी।

बाकी दीपक चहर और शार्दुल ठाकुर तो टीम को गेंद से अच्छी शुरूआत देने में सफल रहे हैं। कर्ण शर्मा अपनी स्पिन का जादू नहीं दिखा पाए हैं और बहुत संभावना है कि अगले मैच में धोनी उनके स्थान पर पीयूष चावला को मौका दें।

टीमें (सम्भावित) :

राजस्थान रॉयल्स : स्टीव स्मिथ (कप्तान), अंकित राजपूत, बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर, जोस बटलर, महिपाल लोमरोर, मनन वोहरा, मयंक मारकंडे, राहुल तेवतिया, रियान पराग, संजू सैमसन, शशांक सिंह, श्रेयस गोपाल, वरुण एरॉन, रॉबिन उथप्पा, जयदेव उनादकट, यशस्वी जायसवाल, अनुज रावत, आकाश सिंह, कार्तिक त्यागी, डेविड मिलर, ओशाने थॉमस, अनिरुद्ध जोशी, एंड्रयू टाई, टॉम कुरैन, बेन स्टोक्स।

चेन्नई सुपर किंग्स : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, पीयूष चावला, ड्वेन ब्रावो, कर्ण शर्मा, शेन वाटसन, शार्दूल ठाकुर, अंबाती रायडू, मुरली विजय, फाफ डु प्लेसिस, इमरान ताहिर, दीपक चहर, लुंगी एनगिडी, मिशेल सैंटनर, केएम. आसिफ, नारायण जगदीशन, मोनू कुमार, रितुराज गायकवाड़, आर. साई किशोर, जोश हेजलवुड, सैम कुरैन।

(आईएएनएस/ग्लोफैंस)