धोनी बीसीसीआई की वार्षिक अनुबंध सूची से बाहर

अनुबंध सूची अक्टूबर 2019 से लेकर सितंबर 2020 तक का है, धोनी किसी भी ग्रेड में शामिल नहीं

मुंबई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने गुरुवार को 2019-20 सीजन के लिए सीनियर पुरुष टीम के खिलाड़ियों की वार्षिक अनुबंध सूची की घोषणा कर दी, जिसमें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को जगह नहीं मिली है। ये अनुबंध सूची अक्टूबर 2019 से लेकर सितंबर 2020 तक का है, जिसमें धोनी को किसी भी ग्रेड में शामिल नहीं किया गया है।

38 साल के धोनी ने पिछले साल हुए विश्व कप के बाद से ही एक भी अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला है। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने आईएएनएस से बातचीत में कहा था कि धोनी पर फैसला लेने के लिए वे आईपीएल-2020 तक इंतजार करेंगे।

अक्टूबर 2019 से लेकर सितंबर 2020 तक की अवधि के लिए वार्षिक अनुबंध सूची में शामिल खिलाड़ियों में ए-प्लस ग्रेड में तीन खिलाड़ी शामिल हैं।

इनमें कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह शामिल हैं। इन तीनों खिलाड़ियों को अक्टूबर 2019 से लेकर सितंबर 2020 तक की अवधि के लिए सात-सात करोड़ रुपये की राशि मिलेगी।

वहीं, ए-ग्रेड में रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, लोकेश राहुल, शिखर धवन, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा, कुलदीप यादव और ऋषभ पंत शामिल हैं। इन खिलाड़ियों को पांच-पांच करोड़ रुपये मिलेंगे।

इसके अलावा बी-ग्रेड में पांच खिलाड़ियों को रखा गया है। इनमें रिद्धिमान साहा, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पांड्या और मयंक अग्रवाल शामिल हैं। इन पांचों खिलाड़ियों को तीन-तीन करोड़ रुपये की राशि हासिल होगी।

बीसीसीआई ने ग्रेड-सी में आठ खिलाड़ियों को रखा है। इन आठ खिलाड़ियों में केदार जाधव, नवदीप सैनी, दीपक चहर, मनीष पांडे, हनुमा विहारी, शार्दुल ठाकुर, श्रेयस अय्यर और वाशिंगटन सुंदर हैं और इन्हें एक-एक करोड़ रुपये मिलेंगे।

इस बीच, विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत अपने खराब प्रदर्शन के बावजूद ए-ग्रेड में बने हुए हैं। पंत सिर में लगी चोट के कारण आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले दूसरे वनडे से बाहर हो गए हैं। वह इस समय राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहेबिलिटेशन से गुजर रहे हैं।

तेज गेंदबाज भुवनेश्चवर कुमार भी चोट के कारण लंबे समय से टीम से बाहर थे और वह भी इस समय राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहेबिलिटेशन से गुजर रहे हैं।

वनडे क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने के चलते लोकेश राहुल को ए-ग्रेड में शामिल किया गया है, जिसमें उन्हें सालाना पांच करोड़ रुपये मिलेंगे। चोटिल हार्दिक पांड्या को भी बी-ग्रेड में बरकरार रखा गया है। -(आईएएनएस)