IND vs NZ: न्यूज़ीलैंड से हर मुक़ाबले में मज़बूत भारत

भारत ने 8 परियों में बनाए है 2295 रन

नई दिल्ली। कल के मैच में भारत का पलड़ा भारी है। सट्टा बाजार भी भारत पर दांव लगा रहा है। न्यूज़ीलैंड की जीत पर 1 / 10 और भारत की जीत पर 8 / 10 का भाव खुला है। हालांकि ये भाव विश्व कप में टीम इंडिया के शानदार परफार्न्स को देखकर खोला गया है। इस वर्ल्ड कप में दोनों टीमों के परफॉर्मेंस पर अगर नज़र डाली जाए तो भारत न्यूज़ीलैंड से हर मुकाबले में कहीं ज़्यादा मज़बूत है।

                साल 2019 के विश्व कप में भारत ने 9 मैच में से 8 मैच खेलें है एक मैच बारिश की वज़ह से रद्द किया गया था। इन मैचों में भारत ने 2295 रनों का पहाड़ खड़े किया है। वही न्यूजीलैंड की टीम ने भी एक मैच बारिश में गवां कर अपनी आठ पारियों में 1674 रन का आंकड़ा ही छू पाई। यानी इस विश्व कप सीरीज में न्यूज़ीलैंड के रनों का आंकड़ा भारत से 621 रन कम का है। इतना ही नहीं ये स्कोर तय करने के लिए न्यूजीलैंड ने अपने कुछ 51 विकेट गवाएं है। हालाँकि इस मामलें में भी भारत काफी मज़बूत रहा है, टीम इंडिया ने 2295 रनों का स्कोर पुरे विश्वकप में महज़ 46 विकेट गवां कर ही खड़ा किया है।


खिलाड़ियों के निजी स्कोर पर अगर नज़र डाली जाए तो भी भारतीय बल्लेबाज़ों का बल्ला जमकर बोला है। भारत के तीन खिलाड़ियों ने इस टूर्नामेंट में अपनी शानदार शतकीय पारी खेली है। वहीं इस विश्व कप में एक नया कीर्तिमान भी टीम इंडिया के धुरंधर बल्लेबाज़ ने अपने नाम किया है।

               टीम के विस्फोटक बल्लेबाज़ों में शुमार हो चुके रोहित शर्मा ने अब तक 5 शतकीय पारी खेली है। इनके साथ के. एल. राहुल और और शिखर धवन ने भी एक एक शतक जड़ें है। न्यूज़ीलैंड की तरफ से अगर देखा जाए तो कप्तान ने झूझ्कर पुरे टूर्नामेंट में केवल 2 शतकीय पारी खेली है।

कोहली से ज़्यादा तेज़ विलियम का खेल
भले ही न्यूज़ीलैंड की टीम ने इस विश्व कप में भारत की तरह रनों का अम्बार नहीं लगा पाई, लेकिन बतौर कप्तान खेल का आंकलन अगर किया जाए तो केन विलियम इस मामलें में आगे है। विलियम ने अपनी आठ पारी में 96.20 की औसत से 481 रन जुटाए है। केन अपनी टीम के एक मात्र ऐसे खिलाडी है जिन्होंने इस विश्व कप में 2 शतक जड़ें है, हालाँकि उनके खाते में एक अर्ध शतक भी है।

                वहीं भारतीय कप्तान विराट कोहली की अगर बात की जाए तो उनका खेल अंडर प्रेशर नज़र आता है। कोहली एक विस्फोटक बल्लेबाज़ के रूप में जाने जाते है। मगर इस विश्वकप में उनका बल्ला ज़रा शान्ति से चला है। उन्होंने अपनी आठ पारी में 63.00 के औसत खेल से 441 रनों का स्कोर बनाया। साथ ही उन्होंने 5 अर्धशतक इस विश्वकप में लगाएं है। एक पारी में शतक पूरा करने से ठीक पहले ही विराट ने अपना विकेट गवां दिया था।