IND vs NZ : जीत की हैट्रिक लगाने उतरेगा भारत

शिखर धवन की जगह रोहित के साथ राहुल करेंगे ओपनिंग

नई दिल्ली। भारत और न्यूजीलैंड के बीच नॉटिंघम के मैदान में वर्ल्ड कप का 18 वां मैच आज खेला जाएगा। दोनों ही टीमें इस टूर्नामेंट में अब तक एक भी मैच नहीं हारी है। भारत में लगातार दो मैचों में चाहे जीत हासिल की है। वहीं न्यूजीलैंड जीत की हैट्रिक लगा चुका है। आज के मैच में यह दोनों ही टीमें अपनी जीत का सिलसिला जारी रखने के लिए आमने-सामने होंगी। दोनों ही टीमें इस मैदान पर दूसरी बार एक दूसरे के खिलाफ खेलने उतर रही है।

भारत और इंग्लैंड12 जून 1999 को इसी मैदान पर न्यूजीलैंड ने भारत को 5 विकेट से शिकस्त दी थी। गौरतलब है कि आज के मैच में भारत के पास उनका विस्फोटक बल्लेबाज शिखर धवन मैदान से बाहर रहेंगे। चोटिल होने की वजह से शिखर धवन अगले 3 हफ्तों तक होने वाले भारत के मैच में नहीं खेल पाएंगे। वहीं शिखर धवन की जगह भारतीय टीम से ओपनिंग के लिए रोहित शर्मा के साथ केएल राहुल मैदान में उतरेंगे। चौथे नंबर पर दिनेश कार्तिक और विजय शंकर में से किसी एक खिलाड़ी को उतारने की रणनीति भारतीय टीम ने बनाई है। दोनों टीमों के बीच अगर खेल का आंकड़ा निकाला जाए तो 106 मैच भारत और न्यूजीलैंड ने एक दूसरे के खिलाफ खेले हैं। जिसमें 55 मैच भारत ने जीते हैं, और न्यूजीलैंड को 45 मैचों में ही जीत हासिल हो पाई है। और एक मैच इन दोनों टीमों के बीच टाई रह गया था। वहीं पांच मैचों में तकनीकी और मौसमी कारणों से कोई भी नतीजा नहीं निकला था।

भारत

भारत ज़्यादा मज़बूत
वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड और भारत के जीत की श्रृंखला में अगर देखा जाए, तो भारत ने अपने दोनों मैच दो मजबूत टीमों से जीते हैं। दक्षिण अफ्रीका और उसके बाद पांच बार की विश्व विजई रही टीम ऑस्ट्रेलिया से भारत ने अपने मैच जीते हैं। वहीं न्यूजीलैंड ने श्रीलंका बांग्लादेश और अफगानिस्तान जैसी टीमों के खिलाफ जीत दर्ज की है। जिसमें आधे से ज्यादा खिलाड़ी या तो चोटिल हैं, या फिर फॉर्म से बाहर चल रहे हैं।

छाए रहेंगे बादल
नॉटिंघम के मौसम का मिजाज बदली के साथ बारिश के संभावनाओं वाला बना हुआ है। स्थानीय मौसम विभाग ने बारिश की संभावनाएं भी जताई हैं। मैच के दौरान आसमान में बादल भी छाए रह सकते हैं। वहीं नॉटिंघम मैदान के आसपास का तापमान 11 से 12 डिग्री बना रहेगा।

गेंदबाज़ों को मिलेगी मदद
नॉटिंघम का मैदान गेंदबाजों के लिए सफल साबित रहा है, लिहाजा टॉस जीतने वाली टीम पहले गेंदबाजी का फैसला लेना पसंद करेंगे। हालांकि सेकंड इनिंग में रन चेज करने के दौरान उतरी टीम के बल्लेबाजों को थोड़ी राहत मिल सकती है।