छत्तीसगढ़ में पहली बार हो रही है मलखंब की राष्ट्रीय प्रतियोगिता

बालिकाओं के इस प्रदर्शन से सब हैरत में

प्रतापपुर|एक रस्सी पर इन बालाओं के प्रदर्शन ने सबको हैरत में डाल दिया। रस्सी पर गजब का संतुलन। जी हां, आज से सरगुजा के प्रतापपुर में मलखंब की राष्ट्रीय प्रतियोगिता शुरू हुई। इसका समापन कल 5 नवंबर को होगा। इसमें छत्तीसगढ़, झारखंड, एमपी, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान सहित अन्य राज्यों के लगभग सात सौ खिलाड़ी शामिल हो रहे हैं। आज सोमवार को प्रतियोगिता का उद्घाटन जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जगते व नेपाल के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सूर्यबहादुर कार्की द्वारा किया गया।                            स्थानीय बस स्टैंड में स्थित मिनी स्टेडियम में आयोजित मलखंब आयोजन समिति ने बताया कि इनमें बड़ी संख्या उन खिलाड़ियों की है जो प्रतापपुर के आसपास गांव के हैं। बस्तर के अबूझमाड़ से भी खिलाड़ी हैं जो जापान में अपना जलवा बिखेर चुके हैं। प्रतियोगिता छत्तीसगढ़ में पहली बार आयोजित हो रही है।

                                      उद्घाटन अवसर पर अनिल गुप्ता विधायक प्रतिनिधि,विद्यासागर सिंह अध्यक्ष शक़्कर कारख़ाना,डॉ. रमेश इंडोलिया प्रेसिडेंट मलखम्ब फेडरेशन ऑफ इंडिया,डॉ. राजकुमार शर्मा जनरल सेक्रेटरी, शिवभजन मरावी,हाइकोर्ट अधिवक्ता ए लकड़ा और आई लकड़ा,रवि प्रकाश परिहार कंपीटिशन टेक्निकल डायरेक्टर,अनिल पटेल टेक्निकल डायरेक्टर,राजकुमारी तिर्की छत्तीसगढ़ फिजिकल डायरेक्टर, आयोजन समिति के नवीन जायसवाल,इम्तियाज जफर,संजीव श्रीवास्तव,सतीश चौबे,जगत लाल आयाम,राकेश मित्तल,मलखम्ब खिलाड़ी चंदन टोप्पो,मासूम इराकी,बलबीर यादव,फकरुद्दीन अंसारी सहित आनंद मित्तल,अक्षय तिवारी,मुकेश गर्ग,विक्कू गुप्ता,बिगनेश्वर प्रसाद,त्रिभुअन सिंह,धीरज कश्यप,प्रकाश गुप्ता उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन जगतलाल आयाम ने किया।

                                             प्रतियोगिता के चीफ जज-रवि प्रकाश परिहार यूपी,अन्य जजों में मुन्ना लाल,मोहन लाल,कन्हैया,मनीष और स्कोरर-ऋतु प्रजापति हैं। आज क्वालीफाई राउंड है। कल फाइनल राउंड। प्रितयोगिता में लड़कियों का रूप मलखम्भ, लड़को का रोप हैंगिंगऔर पोल मलखम्ब प्रदर्शन होगा।